रेप मामले में फंसे मोदी सरकार के मंत्री, कोर्ट ने भेजा समन

रेप मामले में फंसे मोदी सरकार के मंत्री, कोर्ट ने भेजा समन

नई दिल्ली। एक 24 वर्षीय महिला के साथ कथित रूप से रेप करने और उसे धमकाने के मामले में कोर्ट ने मोदी सरकार में रेल राज्य मंत्री राजेन गोहेन को आठ जनवरी 2019 को अदालत में पेश होने का आदेश दिया है।

इस वर्ष अगस्त में मोदी सरकार में मंत्री गोहेन के खिलाफ भारतीय दंड संहिता 417 (धोखाधड़ी के लिए सजा) 376 (बलात्कार) और 506 (धमकी) की धाराओं में मामला दर्ज किया गया था। गोहेन पर एक महिला ने रेप करने और धमकाने के आरोप लगाए थे।

केंद्रीय मंत्री राजेन गोहेन को भेजा गया समन बुधवार को सार्वजनिक किया गया। इसे 28 नवंबर को जारी किया गया था। गोहेन ने संपर्क करने पर पीटीआई भाषा से कहा, ‘‘ मैंने सुना है कि अदालत ने समन जारी किया है लेकिन यह मुझे अभी मिला नहीं है। यह मामला पूरी तरह से झूठा है और मैं राजनीतिक रंजिश का पीड़ित हूं।”

वहीँ शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया था कि घटना सात-आठ महीने पहले उसके घर पर हुई थी। घटना के वक्त उसका पति और परिवार के अन्य सदस्य मौजूद नहीं थे। गोहेन ने दावा किया था कि पीड़िता खुद अदालत गई थी और मामला वापस लेना चाहती थी लेकिन इसे स्वीकार नहीं किया गया। गोहेन 1999 से नौगांव लोकसभा सीट से सांसद हैं।

 

नौगांव के सदर थाना प्रभारी अधिकारी ने अगस्त में कहा था कि महिला ने मामला दर्ज होने के दो दिन बाद अदालत से मुकदमा वापस लेने की याचिका लगाई थी।

नौगांव थाने के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि गोहेन और महिला एक दूसरे को लंबे अरसे से जानते थे और मंत्री अक्सर उसके घर आते जाते रहते थे. मंत्री के ओएसडी संजीव गोस्वामी ने दावा किया था कि गोहेन ने महिला और उनके परिवार के खिलाफ ब्लैकमेलिंग की कुछ शिकायतें दर्ज कराई थीं।

 

Courtesy: lokbharat.

Categories: Crime
Tags: BJP, neta

Related Articles