देश जानना चाहता है कि पर्रिकर के पास ‘राफेल’ के कौन से राज दफन हैं, जिसपर चौकीदार पर्दा डाल रहे हैं?

देश जानना चाहता है कि पर्रिकर के पास ‘राफेल’ के कौन से राज दफन हैं, जिसपर चौकीदार पर्दा डाल रहे हैं?

राफ़ेल डील मामले में गोवा की बीजेपी सरकार के मंत्री का ऑडियो लीक होने से देश की सियासत में भूचाल आ गया है। आडियो में गोवा के मंत्री को ये कहते हुए सुना जा सकता है कि, मनोहर पर्रिकर ने ये कहा है कि कोई उनका कुछ नहीं कर सकता क्योंकि राफ़ेलव डिल की सारी फ़ाइलें उनके पास है। उनके बेडरुम में हैं।

इस ऑडियो लीक के बाद अब हर जगह एक ही सवाल है। कि आख़िर पर्रिकर के पास मौजूद फ़ाइलों में ऐसा कौन सा राज़ दफ़्न है? क्या राफ़ेल डील के समय रक्षा मंत्री रहे मनोहर पर्रिकर ऐसा कुछ जानते हैं जिसके बाहर आने पर पीएम मोदी और बीजेपी असहज हो सकते हैं?

कांग्रेस भी यहीं पूछ रही हैं कि, राफेल की फाईलों में वो कौन सा भ्रष्टाचार व गड़बड़झाला है, जिस पर चौकीदार पर्दा डाल रहे हैं?

गोवा के बीजेपी नेता का ऑडियो हुआ लीक-

दरअसल गोवा की बीजेपी सरकार में हेल्थ मिनिस्टर विश्वजीत राणे की एक गुमनाम शख़्स के साथ बातचीत का ऑडियो लीक हुआ है। जिसमें बीजेपी नेता साफ़-साफ़ कह रहे हैं कि

गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के पास राफ़ेल डील की सारी फ़ाइल, सारी डिटेल मेरे पास मेरे बेडरुम में है। मंत्री विश्वजीत की मानें तो- ‘पर्रिकर के मुताबिक़ कोई उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकता। क्योंकि राफ़ेल की सारी जानकारी मेरे फ़्लैट में है।‘

पर्रिकर गम्भीर रुप से बीमार हैं उन्हें अग्नाशय कैंसर है उनके नाक में हर वक़्त ड्रिप लगी होती है। बावजूद इसके वो सीएम पद पर बरक़रार हैं। जिसे लेकर सवाल उठते रहते हैं। अब गोवा सरकार के मंत्री कह रहे हैं कि-

‘कुछ दिन पहले हुई कैबिनेट की बैठक में ख़राब सेहत के बावजूद मुख्यमंत्री पर्रिकर ने हिस्सा लिया। कैबिनेट की बैठक हंगामेदार रही जिसमें कथित रुप से सीएम मनोहर पर्रिकर ने कहा कि कोई उनका कुछ नहीं कर सकता, क्योंकि राफ़ेल की सारी फ़ाइलें उनके पास हैं।‘

ऑडियो लीक होने के साथ ही कांग्रेस पीएम मोदी पर हमलावर हो गई है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस कर कहा कि-

खुल गया है राफ़ेल का खेल

चौकीदार ने ही किया है सारा घालमेल

कांग्रेस की ओर से कुछ सवाल भी उठाए गए हैं जोकि लाज़िम भी है। मसलन-

सौद के समय रक्षामंत्री रहे मनोहर पर्रिकर के पास राफ़ेल सौदे के कौन से राज़ दफ़्न हैं?
इन फ़ाइलों में ऐसा कौन सा गड़बड़झाला है जिस पर देश के चौकीदार (पीएम मोदी) पर्दा डाल रहे हैं?
पीएम मोदी की अगुवाई वाली केंद्र की बीजेपी सरकार हमेश राफ़ेल विवाद पर जेपीसी की माँग को ठुकरा देती है। लेकिन वो ऐसा क्यों करती हैं? क्या इन फ़ाइलों में ऐसा कुछ है जिसके बाहर आने से राफ़ेल पर पीएम मोदी और उनकी सरकार के सारे भेद खुल सकते हैं?
View image on Twitter

ग़ौरतलब है कि, जिस वक़्त फ़्रांस के साथ राफ़ेल डील हुई थी। उस वक़्त मनोहर पर्रिकर केंद्र में रक्षामंत्री थे। हैरानी की बात ये है कि इस रक्षा सौदे में पीएम के साथ रक्षामंत्री पर्रिकर के न जाने के बजाए अनिल अम्बानी गए थे। और उन्हीं की कम्पनी रिलायंस एविएशन को राफ़ेल की डील मिली थी। रिलायंस एविएशन इस डील से सिर्फ़ 13 दिन पहले बनी थी।

जबकि दशकों से रक्षा उपकरणों की निर्माता रही हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स को इस डील से निकाल कर बाहर फेक दिया गया था। कांग्रेस समेत विपक्ष और कई सामाजिक कार्कर्ताओं, वकीलों और ख़ुद बीजेपी के कई पुराने नेता भी इस डील में बड़े पैमाने पर घोटाले की बात कहते आए हैं।

Courtesy: boltahindusta

Categories: India

Related Articles