यूपी: मंदिर में भाजपा विधायक का कार्यक्रम, फूड पैकेट में बांटी शराब की बोतलें, बच्चों को भी दीं

यूपी: मंदिर में भाजपा विधायक का कार्यक्रम, फूड पैकेट में बांटी शराब की बोतलें, बच्चों को भी दीं

एक शख्स जो कार्यक्रम में शामिल हुआ उसने वीडियो बना लिया। वीडियो में मंच से नितिन अग्रवाल कहते नजर आ रहे हैं कि फूड बांट दिया गया है। अग्रवाल गांव के प्रधान को कह रहे हैं कि वो बॉक्स ले लें और गांव निवासी के बीच बांटें।

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक के कार्यक्रम में लोगों के बीच शराब की बोतलें बांटने की वजह से विवाद पैदा हो गया। खबर के मुताबिक भाजपा विधायक नितिन अग्रवाल के कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों को जो फूड पैकेट मिले और जब इन्हें खोला गया तो उन्हें अपनी आंखों पर विश्वास नहीं हुआ। फूड पैकेट में पूरी और सब्जी के साथ शराब की बोतल रखी मिली। कार्यक्रम का आयोजन हरदोई के एक मंदिर में किया गया था। भाजपा विधायक के पिता नरेश अग्रवाल अभी हाल के दिनों में समाजवादी पार्टी (सपा) का दामन छोड़ भाजपा में शामिल हो गए। खबर है कि कार्यक्रम के वक्त नरेश अग्रवाल भी वहां उपस्थित थे।

इसे दुर्भाग्यपूर्ण घटना बताते हुए हरदोई से भाजपा सांसद अंशुल वर्मा ने राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ को चिट्ठी लिखी है। सीएम को लिखी चिट्ठी में उन्होंने कार्यक्रम को लेकर शिकायत की है। अंशुल वर्मा ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि वह नितिन अग्रवाल के कार्यक्रम में घटी इस घटना को लेकर भाजपा आलाकमान को बताएंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा को अपनी गलती सुधारने के लिए पुनर्विचार करना होगा।

अंशुल शर्मा ने बताया, ‘हाल के दिनों में भाजपा में शामिल हुए नरेश अग्रवाल ने हमारे धार्मिक स्थलों में से एक में पासी सम्मेलन का आयोजन किया। मैं इसे दुर्भाग्यपूर्ण घटना कहूंगा क्योंकि ये शराब की बोलते छोटे बच्चों को दी गईं जबकि इन्हें पैन और कॉपी दी जानी चाहिए। मैं आलाकमान को इसकी जानकारी दूंगा। इसके अलावा एक्साइज विभाग को लिखित में सूचना दूंगा कि आखिर कैसे इतनी बड़ी मात्रा में शराब वितरण उनके संज्ञान में क्यों नहीं रहा।’

जानना चाहिए एक शख्स जो कार्यक्रम में शामिल हुआ उसने वीडियो बना लिया। वीडियो में मंच से नितिन अग्रवाल कहते नजर आ रहे हैं कि फूड बांट दिया गया है। अग्रवाल गांव के प्रधान को कह रहे हैं कि वो बॉक्स ले लें और गांव निवासी के बीच बांटें। अग्रवाल को माक्रोफोन पर यह कहते हुए सुना गया, ‘सभी प्रधानों को वहां जाना चाहिए जहां फूड पैकेट दिए जा रहे हैं। उन्हें इन पैकेट को लेकर गांव निवासियों के बीच बांटना चाहिए।’

बता दें कि इनमें कुछ फूड पैकेट बच्चों को भी दिए गए। इनमें एक बच्चे नें जब बॉक्स खोला तो उसमें प्लास्टिक की बोतल में शराब थी। मामला संज्ञान में आने के बाद नरेश अग्रवाल और उनके पुत्र ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

Courtesy: jansatta.

Categories: Politics