जानी-मानी एक्टिविस्ट और पत्रकार, ट्रांसजेंडर अप्सरा रेड्डी को राहुल गाँधी ने बनाया महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव, ट्विटर पर लोगों ने की राहुल गांधी की जमकर तारीफ

जानी-मानी एक्टिविस्ट और पत्रकार, ट्रांसजेंडर अप्सरा रेड्डी को राहुल गाँधी ने बनाया महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव, ट्विटर पर लोगों ने की राहुल गांधी की जमकर तारीफ

कांग्रेस पार्टी ने मंगलवार (8 जनवरी) को अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करके बताया कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने दक्षिण भारत की चर्चित किन्नर (ट्रांसजेंडर) अप्सरा रेड्डी अखिल भारतीय महिला कांग्रेस की महासचिव नियुक्त किया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अप्सरा को लोकसभा सांसद एवं पार्टी की महिला इकाई की अध्यक्ष सुष्मिता देव की मौजूदगी में पार्टी महासचिव नियुक्त किया। पार्टी ने पहली बार किसी किन्नर को पार्टी का पदाधिकारी बनाया है। अप्सरा पेशे से पत्रकार हैं और अन्नाद्रमुक छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुईं।

 

इस मौके पर अप्सरा ने कहा कि मैं एक ऐसी पृष्ठभूमि से आती हूं, जहां मुझे कई पूर्वाग्रहों और अन्याय के बारे में पता चला था। पाखंड और भेदभाव ने मुझे अन्याय के खिलाफ काम करने के लिए प्रोत्साहित किया। भारत को ऐसी ताकतों द्वारा शासित किया जा रहा है जो महिलाओं के अधिकारों और सम्मान की तुलना में धार्मिक पहचान पर अधिक महत्व रखती हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस वास्तव में एक ऐसी पार्टी है जिसने भारत का निर्माण किया और हमारी पीढ़ियों के लिए अच्छी नीति और शासन में एक संवेदनशील तथा समावेशी दृष्टिकोण को कायम रखा।

रेड्डी ने कहा कि राहुल गांधी जी की महिलाओं के निष्पक्ष प्रतिनिधित्व, महिला-केंद्रित घोषणापत्र लक्ष्यों और गतिशीलता के प्रति प्रतिबद्धता वास्तव में प्रेरणादायक है और मुझे उनके नेतृत्व में देशभर में महिलाओं की सेवा करने में खुशी होगी। बता दें कि अप्सरा पेशे के पत्रकार हैं और कॉलेज के दिनों से ही सामाजिक गतिविधियों में शामिल रही हैं। कांग्रेस के इस फैसले की सोशल मीडिया पर तारीफ हो रही है। टि्वटर यूजर्स कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस पहल की तारीफ कर रहे हैं।

 

 

 

एआईएडीएमके और बीजेपी में रह चुकी हैं

अप्सरा एआईएडीएमके की प्रवक्ता भी रहीं लेकिन तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता के निधन के बाद उन्होंने पार्टी छोड़ दी। उनका कहना था कि उस समय पार्टी के अंदर टकराव चल रहा था और इससे आम जनता का नुकसान हो रहा था। वह एक समय बीजेपी में भी शामिल हुईं लेकिन कुछ समय के बाद उन्होंने पार्टी छोड़ दी। बीजेपी छोड़ने के मुद्दे पर उन्होंने कहा था, ‘बीजेपी एक प्रश्चगामी सोच वाली पार्टी है और स्वतंत्र विचार वाले व्यक्तियों के लिए वहां कोई जगह नहीं है।’

बीबीसी के मुताबिक, मूलतः आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले से आने वाली अप्सरा रेड्डी की स्कूली पढ़ाई चेन्नई में हुई है। इसके बाद उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की मोनाश यूनिवर्सिटी से पत्रकारिता में ग्रैजुएशन किया। वह कॉलेज के समय से सामाजिक कामों में सक्रिय रहीं। उन्होंने ट्रांसजेंडर के अधिकारों के लिए काम किया और साथ ही साथ पत्रकारिता भी की। इसके बाद उन्होंने लंदन से पोस्ट ग्रैजुएशन की पढ़ाई की और साथ ही वहां के मीडिया संस्थानों में काम भी किया।

Categories: India

Related Articles

Write a Comment