जवाब नहीं दे पाए बीजेपी नेता- भ्रष्ट थे आलोक वर्मा तो जेल क्यों नहीं भेजा, FIR क्यों नहीं कराई?

जवाब नहीं दे पाए बीजेपी नेता- भ्रष्ट थे आलोक वर्मा तो जेल क्यों नहीं भेजा, FIR क्यों नहीं कराई?

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि ये सारी कवायद और आरोप सिर्फ आलोक वर्मा को सीबीआई से हटाने के लिए गढ़े गए। उन्होंने कहा कि वर्मा से पीएम मोदी को डर था कि कहीं राफेल मामले की जांच का आदेश न दे दें और पीएम के खिलाफ एफआईआर न दर्ज करा दें।

सीबीआई के डायरेक्टर आलोक वर्मा की पद से छुट्टी किए जाने के बाद से कांग्रेस भाजपा पर हमलावर हो गई है। कांग्रेस पूछ रही है कि अगर सीवीसी की रिपोर्ट के आधार पर आलोक वर्मा को भ्रष्टाचार का दोषी मान लिया गया है तो सरकार ने उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की? टीवी डिबेट में भाग लेते हुए कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने आरोप लगाया कि सरकार ने आलोक वर्मा की गिरफ्तारी क्यों नहीं करवाई? उन्हें फायर सर्विसेज में डीजी क्यों बना दिया? भाजपा की तरफ से चर्चा में भाग ले रहे पार्टी प्रवक्ता सैय्यद जफर इस्लाम इसका कोई जवाब नहीं दे सके।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय हाई पॉवर सेलेक्ट कमेटी ने गुरुवार (10 जनवरी) को आलोक वर्मा को सीबीआई के निदेशक पद से हटा दिया था। इसके बाद सरकार ने उन्हें केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन अग्निशमन विभाग, नागरिक सुरक्षा और होम गार्ड्स का महानिदेशक नियुक्त कर दिया। कांग्रेस प्रवक्ता ने इसी आधार पर भाजपा पर हमला बोला कि एक व्यक्ति जिसे हाई पॉवर कमेटी एक पद के लिए भ्रष्ट मानती है तो उसी व्यक्ति को दूसरा अहम पद कैसे दिया जा सकता है। कांग्रेस प्रवक्ता ने पूछा, “अगर सीवीसी की रिपोर्ट में वर्मा के खिलाफ कोई चार्जेज साबित हुए हैं तो ऐसे आदमी को डीजी फायर क्यों बनाया? उसे जेल में होना चाहिए? जिस आदमी के खिलाफ रिश्वत के आरोप हैं, उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज होनी चाहिए थी क्यों डीजी फायर का काम फालतू काम है?”

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि ये सारी कवायद और आरोप सिर्फ आलोक वर्मा को सीबीआई से हटाने के लिए गढ़े गए। उन्होंने कहा कि वर्मा से पीएम मोदी को डर था कि कहीं राफेल मामले की जांच का आदेश न दे दें और पीएम के खिलाफ एफआईआर न दर्ज करा दें। उनका पक्ष सुने बिना पद से हटा दिया। बता दें कि चार दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने आलोक वर्मा को सीबीआई निदेशक पद पर तैनात करने का फैसला सुनाया था।

Courtesy: .jansatta.

Categories: India

Related Articles

Write a Comment