राहुल गांधी दो दिन के अमेठी दौरे पर, लगे ‘अमेठी का MP, 2019 का PM’ के पोस्टर

राहुल गांधी दो दिन के अमेठी दौरे पर, लगे ‘अमेठी का MP, 2019 का PM’ के पोस्टर

अमेठी दौरे पर जाने से पहले राहुल गांधी ने फेसबुक पोस्ट में लिखा था. ‘अमेठी आ रहा हूँ. घर के आंगन में अपनों के साथ बात-विचार होगा. खुशियों की इस कहानी के रंग आपको तस्वीरों के माध्यम से दिखाता रहूँगा.’

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) अपनी संसदीय सीट अमेठी (Amethi) के दो दिनों के दौरे पर हैं. यूपी में लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election 2019) के लिए कांग्रेस को छोड़कर मायावती (Mayawati) और अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के गठबंधन के बाद राहुल गांधी पहली बार यूपी के दौरे पर हैं. राहुल के अमेठी दौरे के दौरान क्षेत्र में ‘अमेठी का MP, 2019 का PM’ के पोस्टर लगाकर उनका स्वागत किया गया है. इन पोस्टर में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तस्वीर लगी हुई है. अमेठी दौरे पर जाने से पहले राहुल गांधी ने फेसबुक पोस्ट में लिखा था. ‘अमेठी आ रहा हूँ. घर के आंगन में अपनों के साथ बात-विचार होगा. खुशियों की इस कहानी के रंग आपको तस्वीरों के माध्यम से दिखाता रहूँगा.’
बसपा-सपा गठबंधन का एलान करते हुए मायावती और अखिलेश यादव ने कहा था कि वे राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी और सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली से अपना कोई उम्मीदवार नहीं उतारेंगे. दौरे के दौरान राहुल गांधी उत्तर प्रदेश कांग्रेस के साथ लोकसभा चुनाव में पार्टी की रणनीति पर चर्चा कर सकते हैं. पार्टी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी फरवरी महीने में उत्तर प्रदेश में कई रैलियों को संबोधित कर सकते हैं.

राहुल गांधी गांधी के प्रतिनिधि चंद्रकांत दुबे ने बताया कि अमेठी दौरे में कांग्रेस अध्यक्ष फुरसतगंज में ग्राम पंचायत प्रतिनिधियों से मुलाकात करेंगे. बाद में वह गौरीगंज में नवनिर्वाचित बार सदस्यों (वकीलों) के शपथ ग्रहण समारोह में भी शामिल होंगे. दुबे ने बताया कि राहुल गांधी हलियापुर में एक नुक्कड़ सभा को भी संबोधित करेंगे तथा भुएमऊ गेस्ट हाउस में रात्रि विश्राम करेंगे. अपनी यात्रा के दूसरे दिन वह पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलेंगे, बाद में वह दिल्ली लौट जायेंगे.

राहुल इससे पहले चार जनवरी को अमेठी आने वाले थे लेकिन संसद सत्र चलने के कारण उनका दौरा उस समय स्थगित हो गया था. उस दिन केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी का भी अमेठी दौरा था वहीं, यूपीए की अध्यक्ष सोनिया गांधी के प्रतिनिधि केएल शर्मा ने बताया कि सोनिया का दौरा अपरिहार्य कारणों से रद्द हो गया है. उप्र में अमेठी और रायबरेली दो ऐसी लोकसभा सीटे है जिन्हें सपा बसपा गठबंधन ने कांग्रेस के लिये छोड़ा है. 25 साल से एक दूसरे के विरोधी रहे सपा-बसपा के नये गठबंधन ने उप्र की 80 लोकसभा सीटों पर 38-38 सीटो पर चुनाव लड़ने का फैसला किया है. गठबंधन ने दो सीटे छोटे राजनीतिक दलों के लिये छोड़ी हैं.

Courtesy: NDTV

Categories: Politics

Related Articles