साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति ने राहुल को दिया अपने देश आने का न्यौता

साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति ने राहुल को दिया अपने देश आने का न्यौता

कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री ने पार्टी के एक डेलिगेशन के साथ साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति से मुलाकात की. आपको बता दें कि राष्ट्रपति रामपोसा अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस के अध्यक्ष भी हैं. रामपोसा ने राहुल को जब अपने देश आने का न्यौता दिया तो इसे स्वीकार कर लिया गया.

नई दिल्ली: साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति सायरिल रामापोसा से हुई कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मुलाकात के बाद एक बड़ी बात हुई. इस मुलाकात के बाद राष्ट्रपति रामापोसा ने राहुल गांधी को अपने देश में अतिथि के तौर पर बुलाया है. भारत के 70वें गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि रामपोसा की मुलाकात राहुल के अलावा पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ भी हुई.

कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व प्रधानमंत्री ने पार्टी के एक डेलिगेशन के साथ साउथ अफ्रीका के राष्ट्रपति से मुलाकात की. आपको बता दें कि राष्ट्रपति रामपोसा अफ्रीकन नेशनल कांग्रेस के अध्यक्ष भी हैं. रामपोसा ने राहुल को जब अपने देश आने का न्यौता दिया तो इसे स्वीकार कर लिया गया. इसे स्वीकार किए जाने की जानकारी कांग्रेस ने दी है. कांग्रेस ने कहा कि इस मुलाकात को लेकर बाकी की डिटेल्स पर दोनों देशों के विदेश मंत्रालय द्वारा काम किया जा रहा है.

आपको बता दें कि दोनों पार्टियों के बीच एतिहासिक रिश्ते हैं. दोनों तरफ के नेताओं ने पार्टी टू पार्टी स्तर की बातचीत से लेकर क्षेत्रीय और वैश्विक स्तर की चर्चा भी की. कांग्रेस ने कहा, “राष्ट्रपति रामपोसा ने रंगभेद के ख़िलाफ़ भारत की लड़ाई की सराहना की. दोनों ही नेताओं ने अपनी पार्टियों के बीच के संबंध को और मज़बूत करने पर बल दिया.” रामपोसा दो दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को भारत आए थे.

गणतंत्र दिवस पर गडकरी से चर्चा
पिछले साल गणंतत्र दिवस के मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की सीट को लेकर उपजे विवाद के बाद इस साल राहुल गांधी पहली पंक्ति में बैठे नज़र आए. राहुल गांधी परेड समारोह में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के साथ बैठे थे और उनसे लगातार बातें कर रहे थे. इस साल गांधी को जहां अगली पंक्ति की सीट दी गई थी, वहीं राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलामनबी आजाद को दूसरी पंक्ति की सीट मिली. पिछले साल इन दोनों नेताओं को छठी पंक्ति की सीट दी गई थी.

पिछले साल सोनिया गांधी की जगह राहुल गांधी कांग्रेस का अध्यक्ष नियुक्त हुए थे. गांधी की सीट को लेकर कांग्रेस पार्टी ने सरकार पर ‘तुच्छ राजनीति’ करने और परंपरा को खत्म करने का आरोप लगाया था. कांग्रेस सूत्रों ने कहा कि पार्टी के अध्यक्ष हमेशा ही गणतंत्र दिवस परेड समारोह में राजपथ पर अगली पंक्ति में बैठते हैं. राहुल गांधी ने गणतंत्र दिवस के मौके पर देशवासियों को शुभकामनाएं दी. वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने भी देशवासियों को बधाई दी. कांग्रेस के अन्य नेताओं ने भी ट्विटर पर लोगों को गणतंत्र दिवस की बधाइयां दी.

Courtesy: abpnews.

Categories: India

Related Articles