ममता बनर्जी की एक रैली से मोदीजी के ‘तोते’ उड़ गए और वो दिल्ली से कोलकाता पहुँच गए : संजय सिंह

ममता बनर्जी की एक रैली से मोदीजी के ‘तोते’ उड़ गए और वो दिल्ली से कोलकाता पहुँच गए : संजय सिंह

मोदी सरकार और ममता बनर्जी में एक बार फिर ठन गई है। इस बार मामला CBI जांच को लेकर अटक गया जब बंगाल पहुंची सीबीआई के अधिकारियों को पश्चिम बंगाल पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

CBI की टीम कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से शारदा चिटफंड घोटाले की जांच को लेकर पूछताछ करने गई थी।

CBI अधिकारियों की गिरफ़्तारी पर सियासी घमासान शुरू हो गया क्योंकि कोलकाता पुलिस ने दावा किया कि सीबीआई की टीम बिना किसी वॉरंट के कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने पहुंची थी।

पुलिस ने सीबीआई की टीम को राजीव कुमार के घर में दाखिल नहीं होने दिया और उन्हें शेक्सपियर सारणी थाने ले गई।

CBI टीम के पहुंचने की जानकारी होने पर ममता बनर्जी राजीव कुमार के आवास पर पहुंचीं और अधिकारियों के साथ मीटिंग करने के बाद ममता बनर्जी ने मीडिया से बातचीत की और कहा कि ये घटना भारत के संघीय ढांचे पर आक्रमण है। ये राज्य पुलिस पर केंद्र सरकार का हमला है।

इसके बाद ममता बनर्जी कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर सीबीआई की टीम पहुंचने के विरोध में धरना पर बैठ गई। फिर क्या था इसके बाद विपक्षी दल के नेताओं ने मोदी सरकार पर हमले करने शुरू कर दिए।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जहां इस घटना की निंदा की, वहीं आप राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने सोशल मीडिया पर लिखा, ममता जी की एक रैली से मोदी जी के तोते उड़ गये और कोलकोता पहुँच गये, संघीय ढाँचे को ख़त्म करके देश को तोड़ना चाहती है मोदी सरकार, मोदी जी हारोगे पक्का “जितना जुर्म करोगे उतनी ही बुरी तरह हारोगे”।

वहीं CBI विवाद को लेकर आज सुप्रीम कोर्ट पहुंची लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को मंगलवार के लिए टाल दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार से उस दावे के पक्ष में सबूत मांगे जिसमें सीबीआई ने कोलकाता कमिश्नर राजीव कुमार पर सबूतों को नष्ट करने की कोशिश का आरोप लगाया है

Categories: India

Related Articles