रिपब्लिक TV और अर्नब के ख़िलाफ़ FIR का आदेश, बरखा बोली- इस शख्स ने ‘पत्रकारों’ को कलंकित किया है

रिपब्लिक TV और अर्नब के ख़िलाफ़ FIR का आदेश, बरखा बोली- इस शख्स ने ‘पत्रकारों’ को कलंकित किया है

देश का मीडिया अपने आप में अदालत चला रहा है। जहां वो ये तय करता है कि किसे दोषी ठहराना है किसे बरी करना है। ऐसा ही कुछ करने की कोशिश में समाचार चैनल रिपब्लिक टीवी ने जिसके संपादक अर्नब गोस्वामी सुनंदा पुष्कर मर्डर केस में गोपनीय दस्तावेज़ों को प्रसारित किए जाने को लेकर दिल्ली की एक मेट्रोपॉलिटन कोर्ट ने उनके खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश दिए हैं।

दरअसल कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कोर्ट में शिकायत की थी। थरूर ने अपने वकील विकास पाहवा के ज़रिए कोर्ट में इस बात की शिकायत की थी कि मामले की जांच के दौरान पुलिस ने सुनंदा पुष्कर की कई वस्तुओं को इकट्ठा किया था और शिकायतकर्ता के साथ उनके एक सहयोगी नारायण सिंह के बयान दर्ज किए थे। इकट्ठा की गई वस्तुएं सिर्फ जांच टीम के पास ही थीं, जोकि गोपनीय थे।

शिकायत में कहा गया है कि रिपब्लिक टीवी द्वारा कई प्रसारणों में इस केस से जुड़े दस्तावेज दिखाए गए थे। ऐसे में सवाल किया गया था कि अगर यह दस्तावेज़ गोपनीय थे तो आखिर समाचार चैनल के पास पहुंचे कैसे? इसी आधार पर कोर्ट ने इस मामले में रिपब्लिक टीवी और उसके संपादक अर्नब गोस्वामी के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश दिए हैं।

इस मामले पर पत्रकार बरखा दत्त सोशल मीडिया पर रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्नब गोस्वामी पर जमकर भड़की। उन्होंने लिखा, इस व्यक्ति ने पत्रकारों को नियमित रूप से कलंकित किया है और यहां तक ​​कि उनके परीक्षण और गिरफ्तारी के लिए भी बुलाया है।

मैं उसके लिए एक आंसू बहाना नहीं चाहती कि वह अपने खतरनाक, सांप्रदायिक और नीच रिपोर्ट के लिए आपराधिक कार्रवाई का सामना कर रहा है।

बता दें कि अदालत ने इस मामले पर सुनवाई करते हुए कहा था कि अदालत देखेगी कि इस मामले में कितने लोगों की जांच की जानी है। ऐसे हालात में संबंधित एसएचओ को इस मामले में प्राथमिकी दर्ज करने और कानून के अनुसार जांच करने का निर्देश देती है।’ इस मामले की अगली सुनवाई 4 अप्रैल को होगी

Categories: India

Related Articles