जिस योगी पर ‘दर्जनों मुक़दमे’ हो वो कह रहे हैं कि अखिलेश ‘अराजकता’ फैलाने इलाहाबाद जा रहे थे : सपा

जिस योगी पर ‘दर्जनों मुक़दमे’ हो वो कह रहे हैं कि अखिलेश ‘अराजकता’ फैलाने इलाहाबाद जा रहे थे : सपा

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव मंगलवार की सुबह इलाहाबाद यूनिवर्सिटी जाने के लिए लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पहुंचे। जहां उन्हें फ्लाइट में चढ़ने से रोक दिया गया।

अखिलेश यादव को इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ एनुअल फंक्शन में बतौर मुख्य अतिथि बुलाया गया था। लेकिन RSS का छात्र संगठन ABVP लगातार इसका विरोध कर रहा था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि अखिलेश को रोकने का आग्रह ख़ुद यूनिवर्सिटी ने किया था।

उन्होंने कहा कि ‘यूनिवर्सिटी ने खुद इस बारे में उनसे अनुरोध किया था कि सपा अध्‍यक्ष के दौरे से यहां छात्र संगठनों के बीच विवाद पैदा हो सकता है और कानून-व्‍यवस्‍था को लेकर हालात खराब हो सकते हैं। ऐसे में सरकार ने उन्‍हें इलाहाबाद यूनिवर्सिटी जाने से रोकने का फैसला किया।’

सीएम योगी भले ही सपा प्रमुख को रोके जाने का कारण बता रहे हों लेकिन अखिलेश को रोकने वाले अधिकारियों को भी नहीं पता कि उन्हें क्यों रोका गया। अखिलेश यादव ने ट्विटर के ज़रिए कहा कि बिना किसी लिखित आदेश के उन्हें एयरपोर्ट पर रोका गया। जब अधिकारियों से इसके बारे में पूछा गया तो वह कारण बताने में नाकाम रहे।

अखिलेश ने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा, ‘छात्र संघ कार्यक्रम में जाने से रोकने का एक मात्र मकसद युवाओं के बीच समाजवादी विचारों और आवाज को दबाना है।’

अखिलेश को यूनिवर्सिटी जाने से रोके जाने पर समाजवादी पार्टी नेता अनिल यादव ने प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, बिना मुक़दमे वाले अखिलेश जी अराजकता फैला रहे हैं और दर्जनों मुक़दमे लिए घूमने वाले आप शांति दूत बन गए??

Categories: Politics

Related Articles

Write a Comment