अमेठी वालों से बोलीं प्रियंका, ‘मैं हूं ना’

अमेठी वालों से बोलीं प्रियंका, ‘मैं हूं ना’

Lok Sabha General Election 2019 India News Updates: उत्तर प्रदेश में संगठन को चुस्त करने की कवायद में जुटीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने भाई एवं पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अमेठी की समीक्षा की।

Election 2019 Updates: उत्तर प्रदेश में संगठन को चुस्त करने की कवायद में जुटीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने भाई एवं पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अमेठी की समीक्षा की। प्रियंका ने लोकसभावार मैराथन बैठकों के सिलसिले में मंगलवार रात करीब साढ़े ग्यारह बजे अमेठी संसदीय क्षेत्र के नेताओं और कार्यकर्ताओं से बातचीत में हर समस्या के जवाब में कहा, ‘‘मैं हूं ना, अब मैं देखूंगी।’’ प्रियंका से मुलाकात करने वालों में शामिल युवा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश महासचिव अशोक सिंह ने बताया कि प्रियंका ने कार्यकर्ताओं से पूछा कि प्रदेश में कांग्रेस को मजबूत करने के क्या रास्ते हैं। साथ ही कांग्रेस की प्रदेश इकाई, जिला इकाइयां, ब्लॉक और बूथ स्तर पर पार्टी संगठन कैसा काम कर रहे हैं।’

सिंह के मुताबिक प्रियंका ने कहा, ‘‘आप लोग नौजवानों, बुजुर्गों, महिलाओं समेत समाज के सभी वर्गों को साथ लेकर चलें। ””अब मैं आयी हूं ना। मैं सबको एक साथ देखना चाहती हूं। सभी लोग 2019 के लिये तैयार रहिये। उन्होंने कहा कि प्रियंका को जब बताया गया कि भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोग अमेठी के गांव-गांव जाकर तरह-तरह की अफवाहें फैलाकर गुमराह कर रहे हैं कि मोदी सरकार ने क्या-क्या काम किये हैं, तो उन्होंने कहा ””मैं हूं ना, आप लोग तटस्थ रहिये, अब कोई गुमराह नहीं कर पायेगा। अब मैं देखूंगी।

सिंह ने बताया कि प्रियंका ने कहा, ‘‘ मुझे पता चला था कि संगठन काफी समय से उतना सक्रिय नहीं है, जितना होना चाहिये। अब यह नहीं होगा, आपका बल मेरे साथ चलेगा। आप जहां चाहेंगे, मैं खड़ी मिलूंगी।’’ उन्होंने बताया कि बैठक में स्मृति ईरानी के बारे में कोई चर्चा नहीं हुई।

गौरतलब है कि प्रियंका ने कल रात भर अपने प्रभार वाले लोकसभा क्षेत्रों के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत का मैराथन सिलसिला जारी रखा, जो आज सुबह करीब पांच बजे खत्म हुआ। कांग्रेस महासचिव ने दोपहर करीब 12 बजे फिर बैठकों का दौर शुरू किया, जिसके देर रात तक जारी रहने की सम्भावना है।

प्रियंका गांधी ने की राहुल गांधी के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अमेठी की समीक्षा
उत्तर प्रदेश में संगठन को चुस्त करने की कवायद में जुटीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने भाई एवं पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय निर्वाचन क्षेत्र अमेठी की समीक्षा की। प्रियंका ने लोकसभावार मैराथन बैठकों के सिलसिले में मंगलवार रात करीब साढ़े ग्यारह बजे अमेठी संसदीय क्षेत्र के नेताओं और कार्यकर्ताओं से बातचीत में हर समस्या के जवाब में कहा, ‘‘मैं हूं ना, अब मैं देखूंगी।’’ प्रियंका से मुलाकात करने वालों में शामिल युवा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश महासचिव अशोक सिंह ने बताया कि प्रियंका ने कार्यकर्ताओं से पूछा कि प्रदेश में कांग्रेस को मजबूत करने के क्या रास्ते हैं। साथ ही कांग्रेस की प्रदेश इकाई, जिला इकाइयां, ब्लॉक और बूथ स्तर पर पार्टी संगठन कैसा काम कर रहे हैं।’

तेलंगाना में लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन पर फैसला लेगा कांग्रेस आलाकमान
कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि पार्टी का केंद्रीय नेतृत्व इस पर फैसला लेगा कि तेलंगाना में लोकसभा चुनाव के लिए तेदेपा, भाकपा और टीजेएस के साथ गठबंधन जारी रखा जाए या नहीं। ‘प्रजाकुटमी’ नाम का यह गठबंधन तेलंगाना में सात दिसंबर 2018 विधानसभा चुनाव के लिए बना था। हालांकि तब यह धराशायी हो गया था। सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति 119 सदस्यीय विधानसभा में 88 सीटों के साथ सत्ता में लौटी जबकि कांग्रेस 19 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर रही।

मोदी सरकार संविधान के मूल्यों, सिद्धांतों और प्रावधानों पर लगातार हमले कर रही हैः सोनिया गांधी
सोनिया गांधी ने कहा, ‘‘हमारे प्रतिद्वंद्वियों को पहले अजेय बताया जाता था। कांग्रेस अध्यक्ष ने सामने से डटकर उनका मुकाबला किया, हमारे लाखों कार्यकर्ताओं को प्रेरित किया जिन्होंने उनके साथ मिलकर अपना सबकुछ दिया।’’ मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए सोनिया गांधी ने कहा, ‘‘हमारे लोकतांत्रिक गणराज्य, धर्मनिरपेक्ष गणराज्य की नींव पर मोदी सरकार योजनाबद्ध तरीके से हमले कर रही है।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार द्वारा संविधान के मूल्यों, सिद्धांतों और प्रावधानों पर लगातार हमले किए जा रहे हैं।

मोदी सरकार पर सोनिया गांधी के तीखे हमले
मोदी सरकार पर तीखे हमले करते हुए कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने बुधवार को कहा कि ‘‘धोखा, डींग और धमकी’’ इनके शासन के सिद्धांत हैं और कांग्रेस अपने राजनीतिक प्रतिद्वद्वियों से पूरी ताकत से लड़ेगी। कांग्रेस संसदीय दल की बैठक को संबोधित करते हुए सोनिया गांधी ने अपने बेटे और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की जमकर तारीफ भी की। उन्होंने कहा कि राहुल संगठन में नई ऊर्जा लेकर आए हैं और उन्होंने ऐसी टीम बनाई है जिसमें अनुभव और युवा जोश का सही तालमेल है। उन्होंने कहा, ‘‘हम नए आत्मविश्वास और निश्चय के साथ आगामी लोकसभा चुनाव में उतर रहे हैं।

सोनिया के प्रचार-प्रसार को लेकर आया सोनिया का बयान
सोनिया गांधी ने बेटे राहुल के लिए कहा, वह अथक परिश्रम कर रहे हैं और भारत के लिए हमारे दृष्टिकोण के समान विचारधारा रखने वाले दलों से भी मिल रहे हैं।

प्रियंका गांधी ने कहा, मुझसे नहीं, राहुल से है मोदी का मुकाबला
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार को कहा कि उनका मुकाबला प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से नहीं है, उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी टक्कर देंगे। जयपुर से लौटने के बाद मंगलवार की रात प्रियंका ने अलग-अलग लोकसभा क्षेत्रों से आए पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। करीब 16 घंटे तक चली बैठकों के बाद बुधवार सुबह करीब पांच बजे संवाददाताओं से बातचीत में जब प्रियंका से पूछा गया कि क्या उनका मुकाबला प्रधानमंत्री मोदी से होगा? उन्होंने कहा, ””मेरे से नहीं, राहुल जी से उनका मुकाबला होगा।

‘तमिलनाडु में यह गठबंधन सुशासन एवं सकारात्मक विकास के लिए होगा’
भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अपने साथ दोस्ताना व्यवहार रखने वाली पार्टियों के साथ चर्चा कर रही है और वह आगामी लोकसभा चुनावों में तमिलनाडु में निश्चित तौर पर गठबंधन करेगी। पार्टी के महासचिव पी मुरलीधर राव ने मंगलवार को यह बात कही। उन्होंने कहा, हम मित्र दलों के साथ चर्चा कर रहे हैं। भाजपा निश्चित तौर पर गठबंधन करेगी और तमिलनाडु में यह गठबंधन सुशासन एवं सकारात्मक विकास के लिए होगा। राव ने बताया कि चर्चाओं में कुछ प्रगति हुई है।

जम्मू कश्मीर में लोस के साथ ही विस चुनाव की संभावना : माधव
भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने मंगलवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में लोकसभा और विधानसभा चुनाव एक साथ होने की संभावना है। माधव ने यहां एक कार्यक्रम में कहा, ‘‘ हमें अपने कार्यकर्ताओं के जरिए लोगों तक पहुंचना है. और आगामी संसदीय चुनाव जीतना है। (लोकसभा चुनाव) के समय ही जम्मू कश्मीर विधानसभा चुनाव कराने की संभावना है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हमें भाजपा की जीत सुनिश्चित करनी है ताकि यह जम्मू-कश्मीर में फिर से सरकार बना सके। हमें पिछले (विधानसभा) चुनाव में 25 सीटें मिली थीं और आगामी चुनाव में हमें और सीटें जीतनी चाहिए खासतौर पर जम्मू क्षेत्र में जहां हमारे पास लोगों का आशीर्वाद है।’’

Categories: India

Related Articles