जिस देश में 44 जवान मार दिए गए वहां प्रधानमंत्री ‘प्रचारमंत्री’ बनकर उद्घाटन पर उद्घाटन किए जा रहा है : अलका लांबा

जिस देश में 44 जवान मार दिए गए वहां प्रधानमंत्री ‘प्रचारमंत्री’ बनकर उद्घाटन पर उद्घाटन किए जा रहा है : अलका लांबा

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 44 जवान शहीद हो गए और कई जवान गंभीर रूप से घायल। इस हमले के बाद होना तो ये चाहिए था कि देश में कम से कम 72 घंटे का राष्ट्रीय शोक होना चाहिए था।

मगर ऐसा कुछ हुआ नहीं और जवानों की दर्दनाक मौत के एक दिन बाद ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्रेन को हरी झंडी दिखाते नज़र आए जबकि इस कार्यक्रम को टाला भी जा सकता था।

मगर प्रधानमंत्री मोदी यहीं नहीं रुके वो आज महाराष्ट्र के यवतमाल पहुंच गए और यहां उन्होंने कई आदिवासी छात्रों के लिए एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय का उद्घाटन किया। इसके अलावा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनाए गये घरों की चाभियां कुछ लाभार्थियों को सौंपी।

हालांकि इस मौके पर उन्होंने पुलवामा हमले का ज़िक्र भी किया और कहा कि देश की तरक्की के पीछे कई बलिदानों का योगदान है। पीएम मोदी ने कहा मैं जानता हूं कि हम सभी किस गहरी वेदना से गुजर रहे हैं। पुलवामा में जो हुआ, उसको लेकर आपके आक्रोश को मैं समझ रहा हूं। यहां महाराष्ट्र के 2 वीर सपूतों ने पुलवामा में अपने प्राणों की आहूति दी है।

मगर क्या उद्घाटन का कार्यक्रम पीएम मोदी टाल नहीं सकते थे। इस मामले पर आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा पीएम मोदी पर जमकर बरसीं और कहा कि प्रचारमंत्री(PM) को शहीदों के शव नहीं, बल्कि चुनावी भीड़ दिखती है, कुर्सी का लालच किसी को कितना गिरा देता है, यह आज देखा जा सकता है।

देश और विपक्ष एक साथ दिल्ली में आतंकवाद के खिलाफ़ खड़ा है प्रधानमंत्री मोदी यवतमाल में उन्हीं के खिलाफ़ खड़े हो कर चुनावी भाषण दे रहे हैं।

Categories: India

Related Articles