महासचिव बनने के बाद प्रियंका की पहली जनसभा गुजरात में, 60 साल बाद होगी सीडब्ल्यूसी की बैठक

महासचिव बनने के बाद प्रियंका की पहली जनसभा गुजरात में, 60 साल बाद  होगी सीडब्ल्यूसी की बैठक

प्रियंका गांधी की पहली जनसभा गुजरात में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ 28 फरवरी को होगी। अडालज के त्रिमंदिर मैदान में यह महारैली कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की 28 फरवरी को अहमदाबाद में बैठक के बाद होगी।

कांग्रेस महासचिव बनने के बाद से ही प्रियंका गांधी एक्शन मोड में हैं। उत्तर प्रदेश में मैराथन मीटिंग और रोड शो करने के बाद प्रियंका अपनी पहली जनसभा करने वाली हैं। उनकी पहली जनसभा गुजरात में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ 28 फरवरी को होगी। अडालज के त्रिमंदिर मैदान में यह महारैली कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) की 28 फरवरी को अहमदाबाद में बैठक के बाद होगी। सीडब्ल्यूसी की 51वीं महारैली आगामी आम चुनावों से ठीक पहले प्रस्तावित की गई है। इसमें पार्टी की लोकसभा चुनावों में रणनीतियों और तैयारियों पर मुख्य ध्यान दिया जाएगा।

गुजरात में सीडब्ल्यूसी की बैठक 60 सालों के बाद हो रही है। इस बैठक में कांग्रेस का संपूर्ण नेतृत्व जिसमें राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस के संसदीय दल के नेता मल्किार्जुन खड़गे, राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद और प्रियंका गांधी के साथ कई अन्य वरिष्ठ नेता शामिल होगें। बैठक में लोकसभा चुनावों के लिए मुद्दों और तैयारियों पर चर्चा होने की संभावना है। रैली को प्रियंका और राहुल के अतिरिक्त सोनिया गांधी भी संबोधित करेंगी।

गुजरात में कांग्रेस विधायक और पार्टी प्रवक्ता शक्तिसिंह गोहिल ने कहा कि अडालज जनसभा हालिया समय की सबसे विशाल जनसभा होगी।

गोहिल ने समाचार एजेंसी आईएएनएस से कहा, “गुजरात के इतिहास की सबसे विशाल रैली के लिए तैयारियां जोरों पर हैं। गुजरात में जहां एक तरफ मोदी और बीजेपी के खिलाफ नाराजगी स्पष्ट दिख रही है, वहीं जनता और कांग्रेस पार्टी कैडरों का उत्साह सातवें आसमान पर है।” उन्होंने कहा, “पहली बार गुजरात की जनता राहुल गांधी, सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी को एक मंच पर देखेगी।”

Categories: India

Related Articles