मोदी के गढ़ गुजरात से ललकारेंगी प्रियंका, 28 फरवरी को करेंगी पहली रैली

मोदी के गढ़ गुजरात से ललकारेंगी प्रियंका, 28 फरवरी को करेंगी पहली रैली

कांग्रेस की सबसे ताकतवर बॉडी कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक 58 साल बाद गुजरात में होने जा रही है. महासचिव प्रियंका गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में पहली बार जनसभा को संबोधित करने जा रही हैं. इसके जरिए नरेंद्र मोदी को उनके ही घर में घेरने की रणनीति है.

कांग्रेस की नवर्निवाचित महासचिव प्रियंका गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य गुजरात में पहली बार जनसभा को संबोधित करने जा रही हैं. यह जनसभा 28 फरवरी को कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की अहमदाबाद में होने वाली बैठक के बाद होगी. गुजरात कांग्रेस ने इस जनसभा को ऐतिहासिक बनाने के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. प्रियंका के साथ इस जनसभा को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी संबोधित करेंगी.

बता दें कि कांग्रेस की सबसे ताकतवर बॉडी कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक 58 साल बाद गुजरात में होने जा रही है. इस बैठक में आगामी लोकसभा चुनाव और कांग्रेस की भविष्य की रणनीति पर चर्चा होगी. इससे पहले 1902, 1921 और 1961 में गुजरात में CWC की बैठक हुई थी. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा पार्टी की कमान संभालने के बाद यह CWC की चौथी बैठक है. इससे पहले CWC की बैठक महात्मा गांधी की कर्मभूमि रहे वर्धा के सेवाग्राम में हुई थी.

हाल के दिनों में बीजेपी राहुल गांधी और सोनिया गांधी के लोकसभा क्षेत्र अमेठी और रायबरेली में कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व को घेरने में जुटी हुई है. हाल ही में, पीएम नरेंद्र मोदी ने सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में रैली के जरिए कांग्रेस को घेरा था. ऐसे में पीएम मोदी के गढ़ गुजरात से कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व और गांधी-नेहरू परिवार एक मंच से हुंकार भरेगा.

गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अमित चावड़ा ने ‘आजतक’ से बातचीत में बताया कि पिछली बार CWC की गुजरात में 1961 में बैठक हुई थी. पार्टी की राज्य इकाई ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से राज्य में बैठक करने का आग्रह किया था, जिसे उन्होंने स्वीकार किया. चावड़ा ने कहा कि देश महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष और चंपारण सत्याग्रह के 100 साल पूरा होने की खुशी मना रहा है. ऐसे में गांधी और सरदार पटेल की भूमि से कांग्रेस उनके सिद्धांतों को लेकर पूरे देश में संदेश देना चाहती है.

अमित चावड़ा ने बताया कि जिस तरह से देश की तमाम संस्थाओं पर हमले हो रहे हैं. ऐसे में गांधीनगर में होने वाली कांग्रेस की जन संकल्प रैली से ‘संविधान बचाओ, लोकतंत्र बचाओ’ का संकल्प लेकर हम आगे की दिशा में आगे बढ़ेंगे. उन्होने कहा कि 58 साल बाद गुजरात में CWC की बैठक हो रही है, ऐसे में इस रैली को ऐतिहासिक बनाने के लिए एक-एक कांग्रेस कार्यकर्ता कृतसंकल्पित है.

चावड़ा ने कहा रैली में पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी समेत CWC के तमाम सदस्य अपनी बात रखेंगे.

गौरतलब है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश का कार्यभार ग्रहण करने के बाद कांग्रेस महाचिव प्रियंका गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के प्रभारी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 11 फरवरी को यूपी की राजधानी लखनऊ में रोड शो किया था. प्रियंका गांधी ने इसके बाद लगातार तीन दिन लखनऊ में पूर्वी उत्तर प्रदेश के कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर सियासी हालात का जायजा लिया था.

कांग्रेस महासचिव का पदभार ग्रहण करने के बाद 14 फरवरी को प्रियंका गांधी की पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस होनी थी, लेकिन पुलवामा हमले के चलते प्रियंका ने जवानों की शहादत पर शोक जाहिर करते हुए यह प्रेस वार्ता स्थगित कर दी. अमित चावड़ा ने कहा कि महात्मा गांधी और सरदार पटेल की धरती से कांग्रेस गुजरात और पूरे देश के उन बेजुबानों को आवाज देना चाहती है जिनकी उम्मीदें मोदी सरकार में दब कर रह गई.

Categories: India

Related Articles