पूरी दुनिया पुलवामा अटैक का ज़िम्मेदार ‘पाकिस्तान’ को ठहरा रही है लेकिन अमित शाह ‘नेहरू’ को : राम पुनियानी

पूरी दुनिया पुलवामा अटैक का ज़िम्मेदार ‘पाकिस्तान’ को ठहरा रही है लेकिन अमित शाह ‘नेहरू’ को : राम पुनियानी

26 नवंबर 2008 को मुंबई पर बड़ा आतंकी हमला हुआ था। 10 हमलावरों ने पूरी मुंबई को खून से रंग दिया था। सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक 167 लोग मारे गए थे। केंद्र में यूपीए की सरकार थी। प्रधानमंत्री थे मनमोहन सिंह और गृहमंत्री शिवराज पाटिल।

हमला होने के तीन दिन के भीतर विपक्ष की बीजेपी और मेनस्ट्रीम मीडिया ने सरकार पर इतना दवाब बनाया कि 30 नवंबर को गृहमंत्री शिवराज पाटिल को इस्तीफा देना पड़ा था। लेकिन आज जब बीजेपी के शासनकाल में आतंकी हमला हुआ है तो बीजेपी नेहरू पर ठीकरा फोड़ रही है।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आंध्र प्रदेश के राजामुंदरी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, “जिस कश्मीर के कारण यह सब आतंकवादी घटना पाकिस्तान करवा रहा है, वो कश्मीर समस्या का कोई जनक है तो पंडित जवाहरलाल नेहरू हैं, उनके कारण ही आज कश्मीर फंसा हुआ है। अगर सरदार पटेल देश के पहले प्रधानमंत्री होते तो आज देश में कश्मीर समस्या नहीं होती”।

इस दौरान बीजेपी अध्यक्ष ने कांग्रेस पर पुलवामा हमले को लेकर राजनीति करने का आरोप भी लगाया। उन्होंने कहा कि जहां एक तरफ देशवासियों के दिल में दर्द है, वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस इस मुद्दे पर राजनीति कर रही है।

उन्होंने कहा, “पीएम मोदी किसी कार्यक्रम में थे, उसे मुद्दा बनाया। मैं कहना चाहता हूं कि पीएम मोदी 24 में से 18 घंटे देश के लिए काम करने वाले व्यक्ति हैं, आपके आरोपों का असर नहीं होगा”। शाह ने कहा कि हमें देशभक्ति मत सिखाओ कांग्रेसियों, हमारी रग-रग में देशभक्ति है।

दरअसल, इससे पहले कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने दावा किया था कि जिस वक्त पुलवामा में आतंकी हमला हुआ उस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फिल्म शूट कर रहे थे, समोसा और चाय का नाश्ता कर रहे थे।

पुलवामा हमले के लिए पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू को ज़िम्मेदार ठहराए जाने के बाद सोशल मीडिया पर अमित शाह का जमकर मज़ाक बनाया जा रहा है।

समाजसेवी एवं लेखक राम पुनियानी ने कटाक्ष करते हुए लिखा है ‘पूरी दुनिया पुलवामा अटैक का ज़िम्मेदार पाकिस्तान को ठहरा रही है, और अमित शाह नेहरू को! सरकार गुज़रने वाली है, मगर तुम सुधरने वाले नहीं!’

Categories: India

Related Articles