डॉक्टरों ने मेडिकल कॉलेज में भाजपा नेता को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, इस बात पर हुआ विवाद

डॉक्टरों ने मेडिकल कॉलेज में भाजपा नेता को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, इस बात पर हुआ विवाद

इटावा जिले में सैफई मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी में शुक्रवार को डॉक्टर व भाजपा नेता के बीच विवाद हो गया। मामला तूल पकड़ते ही गुस्साए जूनियर डॉक्टरों ने भाजपा नेता व उनके समर्थकों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। डॉक्टरों से बचने के लिये भाजपा नेता ने एक घर में शरण ली। साथ ही घटना की जानकारी एसएसपी संतोष मिश्रा को दी। तब जाकर अतिरिक्त पुलिस के पहुंचने पर भाजपा नेता को घर से निकालकर थाने लाया जा सका। मामले को शांत कराने पहुंचा दरोगा भी जख्मी हो गया। कुलपति ने मामले को शांत कराया। डॉक्टर ने तहरीर देकर भाजपा नेता के खिलाफ मारपीट और बंदूक दिखाकर धमकाने का आरोप लगाया है।
तकिया आजादगन अंदावा हाउस में रहने वाले प्रशांत राव चौबे भाजपा में कानपुर-बुंदेलखंड मंडल व्यापार प्रकोष्ठ के संयोजक हैं। प्रशांत चौबे ने पुलिस को बताया कि शुक्रवार शाम को उनकी मां उमा चतुर्वेदी के सीने में अचानक दर्द उठा और उनकी हालत बिगडने लगी। वह अपनी मां को लेकर सैफई मेडिकल कॉलेज पहुंचे। उनके साथ उनके छोटे भाई अतुल चौबे और दो रिश्तेदार भी थे। काफी देर इमरजेंसी में मां का इलाज चिकित्सकों ने चालू नहीं किया तो उन्होंने इंचार्ज डॉ. सलीम अहमद और डॉ. कादरी से इलाज करने के लिये कहा लेकिन उन्होंने उनकी बात को अनसुना कर दिया।
डॉ सलीम व डॉक्टर कादरी ने पर अभद्रता करने का आरोप
दोबारा इलाज की बात करने पर भड़के डॉ सलीम व डॉक्टर कादरी ने अभद्रता शुरू कर दी। विरोध करने पर उनके साथ करीब एक दर्जन से अधिक जूनियर डॉक्टरों भी आ गये। उन्होंने भाजपा नेता को गालियां देनी शुरू कर दी। विरोध करने पर डॉक्टरों ने प्रशांत चौबे और उनके छोटे भाई अतुल चौबे समेत रिश्तेदारों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। साथ ही उनके ऊपर पथराव भी किया गया।

प्रशांत ने एक घर में घुसकर अपनी जान बचायी। साथ ही घटना की जानकारी एसएसपी संतोष मिश्रा को दी। उन्होंने एएसपी ग्रामीण रामबदन सिंह व सैफई थाने समेत अतिरिक्त पुलिस बल को भेजकर भाजपा नेता प्रशांत चौबे के घर से निकाला और थाने ले आए। मारपीट में चौकी इंचार्ज विपिन भी चुटहिल हो गया।
आरोप लगाया कि मारपीट करते हुए बंदूक दिखाकर धमकी दी
डॉक्टर सलीम अहमद कादरी का कहना है कि भाजपा नेता प्रशांत चौबे चिकित्सकों पर रौब गांठते हुए डॉक्टर की कुर्सी पर बैठ गए और इलाज न करने पर मुकदमा लिखवाने की धमकी देने लगे। यह भी आरोप लगाया कि मारपीट करते हुए बंदूक दिखाकर धमकी दी। इससे नाराज जूनियर डॉक्टरों से मारपीट हुई थी।

डॉ. सलीम अहमद ने सैफई थाने में भाजपा नेता के खिलाफ अभद्रता और बवाल करने की तहरीर दी। एसएसपी संतोष मिश्रा का कहना है कि बवाल की सूचना पर एसएसपी ग्रामीण रामबदन सिंह समेत थाने की फोर्स को भेजा गया था, उन्होंने मामला शांत कराया दिया गया है। दोनों पक्षों की तहरीर पर कार्रवाई की जा रही है। कुलपति राजकुमार ने कहा कि भाजपा नेता की अभद्रता पर भड़के चिकित्सकों को समझाकर मामला शांत करा दिया गया है।

Categories: India

Related Articles