विंग कंमाडर अभिनंदन का वीडियो बनाकर फंस गया पाकिस्तान, इस वजह से हटाने को हुआ मजबूर

विंग कंमाडर अभिनंदन का वीडियो बनाकर फंस गया पाकिस्तान, इस वजह से हटाने को हुआ मजबूर

पाकिस्तान सरकार के सूचना प्रसारण मंत्रालय ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से विंग कमांडर अभिनंदन का वीडियो हटा दिया है। उन्हें रिहा करने से पहले पाकिस्तान सरकार की सूचना प्रसारण मंत्रालय ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से उनका एक वीडियो जारी किया था।

विंग कंमाडर अभिनंदन वर्धमान का वीडियो बनाकर पाकिस्तान फंस गया है। ऐसा करके उसने जेनेवा समझौते और कई अंतरराष्ट्रीय कानूनों का उल्लंघन किया है। लेकिन लगता है उसे अपनी गलती का अहसास हो गया है। पाकिस्तान सरकार के सूचना प्रसारण मंत्रालय ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से विंग कमांडर अभिनंदन का वीडियो हटा दिया है।

बता दें कि विंग कमांडर अभिनंदन को रिहा करने से पहले पाकिस्तान सरकार की सूचना प्रसारण मंत्रालय ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से उनका एक वीडियो जारी किया था। वीडियो को देखकर लगता है कि उनकी कोशिश पाकिस्तानी सेना की छवि को सुधारने की थी। साथ ही वो दुनिया को ये दिखाना चाहते थे कि वो भारतीय पायलट को सही सलामत वापस भेज रहे हैं। हालांकि उनका यह दाव उलटा पड़ा गया। मजबूरन उन्हें इस वीडियो को हटाना पड़ा। क्योंकि जेनेवा समझौते के मुतबाकि ऐसा करना अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है।

गौरतलब है कि शुक्रवार को विंग कमांडर अभिनंदन को वाघा बॉर्डर पर भारत को सौंपे जाने में घंटों की देरी हुई। पाकिस्तान की तरफ से इस देरी की वजह मेडिकल जांच बताया गया। लेकिन लगता है इसकी असली वजह कुछ और थी। दरअसल देरी इसलिए हुई क्योंकि पाकिस्तानी अधिकारी उनसे कैमरे पर बयान दर्ज करवा रहे थे। इसके बाद पाकिस्तान सरकार ने स्थानीय समयानुसार रात साढ़े आठ बजे अभिनंदन का वीडियो संदेश अपने मीडिया में जारी किया। इस वीडियो पर पाकिस्तानी पत्रकारों ने भी सवाल उठाए हैं।

हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि कैमरे के सामने बयान देने के लिए उन पर दबाव बनाया गया या नहीं। लेकिन इस वीडियो में दो दर्जन ऐसे कट हैं , जिससे देखकर लगता है कि वीडियो को पाकिस्तान के अनुरुप करने के लिए ऐसा किया गया है।

Courtesy: navjivanindia.

Categories: International