“अपने चुनावी फायदे के लिए क्या अमित शाह और बीजेपी सेना को झूठा बोल रहे हैं?

“अपने चुनावी फायदे के लिए क्या अमित शाह और बीजेपी सेना को झूठा बोल रहे हैं?

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के बालाकोट में किए गए हवाई हमले में कितने आतंकवादी मारे गए इसे लेकर सियायत तेज हो गई है। विभिन्न भारतीय मीडिया रिपोर्ट्स में तरह-तरह के आंकड़ों के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया कि वायुसेना की एयर स्ट्राइक में करीब 250 से ज्यादा आतंकी मारे गए। अमित शाह के इस बयान पर आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक व दिल्‍ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनपर जोरदार हमला बोला है।

दरअसल, गुजरात के अहमदाबाद में ‘लक्ष्य जीतो’ कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अमित शाह पिछले पांच साल में दो बड़ी आतंकी स्ट्राइक का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पिछले पांच सालों में उरी और पुलवामा में दो बड़ी घटनाएं हुईं। उरी हमले के बाद हमारी सेना ने पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की और हमारे जवानों की शहादत का बदला लिया। पुलवामा हमले के बाद हर कोई सोच रहा था कि इस बार सर्जिकल स्ट्राइक नहीं हो सकती। अब क्या होगा? उस वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने हमले के बाद 13वें दिन एयर स्ट्राइक की और 250 आतंकियों को मार गिराया।

अमित शाह के दावों को वायुसेना ने किया खारिज

अमित शाह के दावों को लेकर सोमवार को उस वक्त नया मोड़ आ गया जब खुद भारतीय वायुसेना प्रेस कॉन्फेंस कर बीजेपी अध्यक्ष के दावों को सिरे से खारिज कर दिया। वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने सोमवार को कहा कि हमने बालाकोट में अपने टारगेट को हिट किया था, मृतकों के आंकड़े के बारे में हमारे पास कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि हमले में कितने लोग मारे गए ये गिनना एयरफोर्स का काम नहीं है। ऐसा सरकार करती है।

केजरीवाल ने अमित शाह पर बोला हमला

अमित शाह के इस बयान पर सीएम केजरीवाल ने सवाल खड़े किए हैं। केजरीवाल ने सोमवार (4 मार्च) को ट्वीट कर लिखा, “क्या अमित शाह के मुताबिक़ सेना झूठ बोल रही है? सेना ने साफ़ साफ़ कहा है कि कोई मरा या नहीं मरा या कितने मरे, ये नहीं कहा जा सकता। अपने चुनावी फ़ायदे के लिए क्या अमित शाह और भाजपा सेना को झूठा बोल रहे हैं? देश को सेना पर भरोसा है। क्या अमित शाह और भाजपा को सेना पर भरोसा नहीं?”

अपने एक अन्य ट्वीट में केजरीवाल ने लिखा, “सेना झूठ नही बोल सकती, भाजपा झूठ बोल रही है। सारा देश सेना के साथ है, लेकिन भाजपा सेना के ख़िलाफ़”

वहीं केंद्रीय मंत्री एस एस अहलुवालिया के बयान पर केजरीवाल ने लिखा, “यही सेना भी कह रही है। लेकिन अमित शाह कह रहे हैं कि सेना झूठ बोल रही है, 250 मरे थे। अमित शाह सेना को झूठा बोल रहे हैं। देश ये किसी हाल में बर्दाश्त नहीं करेगा।”

हवाई हमले का उद्देश्य किसी को मारना नहीं बल्कि एक संदेश देना था: केंद्रीय मंत्री एस एस अहलुवालिया

बता दें कि पाकिस्तान में आतंकवादी शिविर पर हमले के केंद्र के दावे पर विपक्ष द्वारा सबूत मांगे जाने के बीच केंद्रीय मंत्री एस एस अहलुवालिया ने कहा है कि इस हमले का उद्देश्य मानवीय क्षति पहुंचाना नहीं बल्कि एक संदेश देना था कि भारत दुश्मन के क्षेत्र में अंदर दूर तक घुसकर प्रहार कर सकता है। अहलुवालिया ने कहा कि न तो प्रधानमंत्री और न ही किसी सरकारी प्रवक्ता ने हवाई हमले के हताहतों पर कोई आंकड़ा दिया है। बल्कि यह तो भारतीय मीडिया और सोशल मीडिया ही था जहां मारे गये आतंकवादियों की अपुष्ट संख्या की चर्चा हो रही थी।

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होंने शनिवार को सिलीगुड़ी में संवाददाताओं से सवाल किया ‘हमने भारतीय मीडिया और अंतरराष्ट्रीय मीडिया में खबरें देखी हैं और यह भी देखा कि मोदी जी ने क्या कहा था। हवाई हमले के बाद मोदी जी की रैली हुई और उन्होंने हताहतों की संख्या के बारे में कुछ नहीं कहा। मैं पूछना चाहता हूं कि क्या मोदी जी या किसी सरकारी प्रवक्ता या हमारे पार्टी अध्यक्ष ने कोई आंकड़ा दिया है?’

इलेक्ट्रोनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री ने कहा कि इस हमले का इरादा एक संदेश देना था कि भारत जरूरत पड़ने पर पाकिस्तान की नाक के नीचे तबाही मचाने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि हम कोई मानवीय क्षति नहीं चाहते थे।

Categories: India

Related Articles