पाकिस्तान में हिंदू विरोधी बयान देने वाले मंत्री के ख़िलाफ़ कार्रवाई, अलका बोलीं- भारत को इससे सीखना चाहिए

पाकिस्तान में हिंदू विरोधी बयान देने वाले मंत्री के ख़िलाफ़ कार्रवाई, अलका बोलीं- भारत को इससे सीखना चाहिए

पाकिस्तान के एक मुस्लिम मंत्री को हिंदुओं के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी करना महंगा पड़ गया है। इसके लिए उन्हें पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार ने सूचना मंत्री के पद से हटा दिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सूचना मंत्री फैयाज उल हसन चौहान ने अपनी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में हिंदू समुदाय को ‘गाय का मूत्र पीने वाला’ बताया था। उन्होंने कहा था, ‘हम मुस्लिम हैं और हमारे पास झंडा है, झंडा है मौला अली की बहादुरी का, झंडा है हजरत उमर के शौर्य का। तुम हिंदुओं के पास यह झंडा नहीं है, यह तुम्हारे हाथ में नहीं है”।

इसके साथ ही उनका सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी सामने आया था, जिसमें वह हिंदुओं को संबोधित करते हुए कह रहे थे, “इस भ्रम में न रहो कि तुम हमसे सात गुना ज्यादा बेहतर हो। जो हमारे पास है, वह तुम्हारे पास नहीं है। मूर्ति को पूजने वाले”।

फैयाज उल हसन की इस टिप्पणी पर प्रधानमंत्री इमरान खान ने आपत्ति जताई थी। इमरान खान ने उनके बयान को ‘अनुचित’ करार दिया और कहा, “किसी भी अल्पसंख्यक समुदाय के खिलाफ हम किसी भी तरह की टिप्पणी बर्दाश्त नहीं करेंगे”। जिसके बाद पीटीआई ने फैयाज उल हसन के ख़िलाफ़ कार्रवाई करने की बात कही और अब उन्हें मंत्री पद से हटा दिया गया।

पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं के खिलाफ़ टिप्पणी करने वाले सत्तारूढ़ पार्टी के नेता को मंत्री पद से हटाए जाने की कार्रवाई की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ़ हो रही है। लोग पूछ रहे हैं कि इस तरह की कार्रवाई भारत में कब होगी।

आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा ने इसपर प्रतिक्रिया देते हुए भारत के उन हिंदुत्ववादी दलों पर हमला बोला है जिनकी सियासत ही मुसलमानों को बुरा-भला कहने पर टिकी है।

उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “भगवाधारी, संघी, भक्त, गोड़से के अनुयायी, भाजपाई, हिंदूवादी संगठनों क्या कहना है तुम्हारा इस इस्तीफ़े के बारे में ? हिन्दू-मुस्लिम मामले में तुम्हारा दुश्मन ही तुम्हारा बाप निकला… सीखो कुछ दुश्मन से भी,अगर उससे इंसानियत का भला हो रहा हो तो। कोई और तारीफ़ मत करना नही तो”।

Categories: India

Related Articles