VIDEO: अपने पहले ही भाषण में छा गयी प्रियंका गांधी, हर ज़ुबान पर प्रियंका प्रियंका का नारा

VIDEO: अपने पहले ही भाषण में छा गयी प्रियंका गांधी, हर ज़ुबान पर प्रियंका प्रियंका का नारा

नई दिल्ली: कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव बनने के बाद प्रियंका गांधी वाड्रा ने पहला आधिकारिक भाषण मंगलवार (12 मार्च) को दिया जिसमे उन्होंने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में जो कुछ हो रहा है उससे वह दुखी हैं। इस साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले अपने संबोधन के दौरान प्रियंका गांधी ने मतदाताओं से जागरुक होने की अपील करते हुए कहा कि जागरुक होने से बड़ी कोई देशभक्ति नहीं हैं।

प्रियंका गांधी के भाषण की कांग्रेस नेताओं में चर्चा रही. नेताओं और कार्यकर्ताओं के मुताबिक भाषण प्रभावी रहा. उन्होंने जनता से जागरूकता की अपील की. साथ ही बीजेपी और मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए देश की तमाम समस्याओं का जिम्मेदार ठहराया. पार्टी की बड़ी रैली में इस डेब्यू स्पीच के बाद अब लोगों की नजरें उनकी चुनावी कैंपेनिंग पर टिकी हैं।

होने वाले 2019 लोकसभा चुनाव में प्रियंका गांधी कांग्रेस को कितनी सीटों का वह फायदा दिला पाती हैं, इसको लेकर पार्टी नेता अपने-अपने स्तर से आंकलन करने में जुटे हैं. आइए जानते हैं प्रियंका गांधी के भाषण की 10 बड़ी बातें।

प्रियंका गांधी ने कहा कि मोदी सरकार ने देश में करोड़ों लोगों को नौकरियां देने के अपने वादों को पूरा नहीं किया. उन्होंने कहा- मन में सोचा था कि शायद मुझे भाषण देने की जरूरत न पड़े. तो मैं भाषण नहीं देती।

उन्होंने जनता से मुखातिब होते हुए अपने पहले भाषण में कहा कि आपसे दो शब्द कहती हूं जो मेरे दिल में है. पहली बार मैं गुजरात आई हूं और पहली बार साबरमती के उस आश्रम में गई जहां से महात्मा गांधी जी ने आजादी का संघर्ष शुरू किया था. ऐसा लगा कि आसूं आने वाले हैं, क्योंकि मैंने उन देशभक्तों के बारे में सोचा जिन्होंने जीवन संघर्ष किया, अपनी जान तक दी. जिनके बलिदानों पर इस देश की नींव डली है. वहां बैठे हुए यह बात आई कि यह देश प्रेस सद्भावना और आपसी प्यार के आधार पर बना है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा कि मैं दिल से कहना चाहती हूं कि इससे बड़ी कोई देशभक्ति नहीं है कि आप जागरूक बनें. आपकी जागरुकता एक हथियार है. यह ऐसा हथियार है, जिससे किसी को दुख नहीं देना है किसी को चोट नहीं पहुंचनी. पर यह आपको मजबूत बनाएगा।

अपने भाषण में उन्होंने कहा कि आपको सोचना है कि यह चुनाव है औऱ अपना भविष्य चुनने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि चुनाव में फिज़ूल के मुद्दे नहीं उठने चाहिए. जरूरी मुद्दे किसान, नौकरी, महिला सुरक्षा है. ये चुनावी मुद्दा है. आपकी जागरूकता ही आपको इन परेशानी से छुटकारा दिलाएंगे जो आपके सामने बड़ी- बड़ी बाते करते हैं वादे करते हैं उनसे पूछिए कि हर साल 2 करोड़ रोजगार देने का जो वादा किया वह कहां है।

प्रियंका गांधी ने कालाधन का मुद्दा उठाते हुए पीएम मोदी पर निशाना साधा और कहा कि 15 लाख आपके खाते में आने हैं वह कहां है।

प्रियंका गांधी ने रैली में महिला सुरक्षा का मुद्दा भी उठाया. कहा कि जिन महिलाओं की सुरक्षा की बातें करते थे उनके बारे में किसने पूछा. आने वाले दो महीने में आपके सामने कई मुद्दे उठाए जाएंगे, लेकिन यह आपकी जागरुकता है कि आपको किन मुद्दों को मानना है समझना है।

प्रियंका गांधी ने कहा कि यहीं से गुजरात गांधी जी ने प्रेस, अहिंसा की आवाज उठाई थी. मैं सोचती हूं कि हमारी आवाज भी यहीं से उठनी चाहिए. जो अपनी फितरत की बात करते हैं उनसे पूछिए कि देश की फितरत क्या है. इस देश की फितरत है कि नफरत की हवाओं को प्रेम और करुणा में बदल सतके हैं. ये आवाज आप यहां उठाएंगे. आने वाले दिनों में सही निर्णय लीजिए, सही मुद्दे उठाइये. ये देश आपका है और आपने ही इसे बनाया है. यह देश किसानों का है नौजवानों का है।

बतौर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पहले भाषण का कांग्रेस नेताओं को बेसब्री से इंतजार रहा. प्रियंका गांधी ने ट्विटर हैंडल बनने के करीब एक महीने के बाद जो ट्वीट किया, वो भी गुजरात में साबरमती आश्रम और महात्मा गांधी से जुड़ा रहा।

प्रियंका गांधी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने रैली में मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. राहुल गांधी ने गुजरात में पार्टी की संकल्प रैली में कहा कि सालों बाद कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक गुजरात में हुई. हमनें यहां यह मीटिंग इसलिए की क्योंकि देश में दो विचारधारा की लड़ाई है और दोनों विचारधारा गुजरात में आपको मिलेगी।

 

आप जागरूक बनें, इससे बड़ी कोई देशभक्ति नहीं है- प्रियंका गाँधी वाड्रा, गांधीनगर में

Posted by With Priyanka on Tuesday, 12 March 2019

 

Categories: India

Related Articles