तालकटोरा स्टेडियम में सोनिया गांधी बोलीं, हमें भारत के संविधान की रक्षा करने की जरूरत

तालकटोरा स्टेडियम में सोनिया गांधी बोलीं, हमें भारत के संविधान की रक्षा करने की जरूरत

दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में जन सरोकार सम्मेलन के दौरान यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि कुछ साल से पहले की हम सोच भी नहीं सकते थे कि हमें ऐसे हालात में इकठ्ठा होना पड़ेगा। आज हमें देशभक्ति की नयी परिभाषा सिखायी जा रही है। जो लोग देश की विविधता को स्वीकर नहीं करते हैं उन्हें देश भक्त बताया जा रहा है। जाति-धर्म से लोगों के साथ भेदभाव किया जा रहा है। हमसे उम्मीद की जा रही है कि खान-पान, पहनवा और अभिव्यक्ति की आजादी के मामले में कुछ लोगों की मनमानी को हम बर्दाश्त करे।

उन्होंने आगे कहा कि मौजूदा सरकार लोगों की बेहतर जिंदगी बनानी की संभावना की छिन रही है। हमे पूरे हिम्मत के साथ इसका विरोध करना होगा। भारत को ऐसी सरकार की जरूरत है। देश के सभी नागरिकों के प्रति जिम्मेदार हो। संविधान में जिस बुनियादी स्वतंत्रता लिखी गयी है उसे फिर से स्थापित करना होगा। हमें उन सैवाधिनक मुद्दो को फिर कायम करना होगा।

उन्होंने आगे कहा मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि कांग्रेस की ओर से जो वायदे किए जा रहे है। उसको पूरा किया जाएगा और उसकी निगरानी करेंगे। हमने पहले भी करके दिखाया और आगे भी करके दिखाएंगे। सरकार के शब्दों और कर्मों में फर्क बिल्कुल नहीं होना चाहिए। हमने पहले भी ये करके दिखाया है और आगे भी ये करके दिखायेंगे। आज के इस महत्वपूर्ण अवसर जवाहर लाल नेहरू की बात की याद आ रही है। उन्होंने कहा था कि भविष्य का निर्माण करते हुए सुविधा या आराम के लिये कोई जगह नहीं होती है

Categories: Politics

Related Articles