लोकसभा चुनाव 2019: काशी में प्रियंका के रोड शो की तैयारियां तेज, कांग्रेसी झंडों से पटेगा पूरा रास्ता

लोकसभा चुनाव 2019: काशी में प्रियंका के रोड शो की तैयारियां तेज, कांग्रेसी झंडों से पटेगा पूरा रास्ता

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में वाराणसी में कांग्रेस ने पूरी ताकत झोंकने की तैयारी कर ली है। 15 मई को पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी का रोड शो लंका स्थित मालवीय प्रतिमा से शुरू होगा। एसपीजी की टीम बनारस पहले ही पहुंच गई है। अधिकारियों ने रोड शो वाले मार्ग के बारे में कांग्रेस पदाधिकारियों से जानकारी ली। साथ ही लंका चौराहे पर पहुंचकर निरीक्षण किया। मालवीय प्रतिमा के पास बनने वाले मंच की जगह को देखा और सुरक्षा के मानकों को पूरा करने को कहा। इसके बाद उन्होंने अस्सी, भदैनी, शिवाला, सोनारपुरा, मदनपुरा, जंगमबाड़ी, गौदौलिया से होकर विश्वनाथ मंदिर तक जाने वाले मार्ग को देखा। प्रियंका गांधी रोड शो करने के बाद बाबा विश्वनाथ का दर्शन पूजन करेंगी। इसके बाद कालभैरव का दर्शन पूजन करने जाएंगी। सीओ भेलूपुर अनिल कुमार ने एसपीजी टीम को सुरक्षा व्यवस्था के बारे में जानकारी दी।

यह पहला मौका होगा जब कांग्रेस का रोड शो मालवीय प्रतिमा से आरंभ हो रहा है। हाल के वर्षों में कांग्रेस नेताओं के जितने रोड शो हुए हैं वो अम्बेडकर पार्क या चौकाघाट से शुरू हुए हैं। प्रियंका गांधी के रोड शो का शुभारंभ स्थल के माध्यम से कांग्रेस प्रतीकात्मक संदेश देने की कोशिश कर रही है। इसके अलावा जो रूट भी निर्धारित किया गया है, उसके भी राजनीतिक निहितार्थ हैं।

रोड शो की तैयारियों की कमान खुद गांधी परिवार के निकटस्थ किशोरी लाल शर्मा ने संभाल रखी है। रोड शो में अधिक से अधिक भागीदारी के लिए अलग-अलग बैठकें की जा रही हैं। रविवार को उत्तरी, दक्षिणी और कैंट विधान सभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की अलग-अलग बैठकें हुईं। कार्यकताओं की टोली बनाई जा रही है। उन्हें जिम्मेदारी सौंपी गई है। सोमवार को सेवापुरी और रोहनिया विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई गई थी। इसके अलावा आसपास के जिलों से भी कार्यकर्ता शामिल होंगे। पूर्वांचल के उन जिलों से भी कार्यकर्ताओं के आने की संभावना है, जहां चुनाव समाप्त हो गए हैं। रोड शो के माध्यम से कांग्रेस अपना पूरा दमखम दिगाएगी। पार्टी का मानना है कि इसका असर सिर्फ बनारस ही नहीं आसपास की सीटों पर पड़ेगा। 

रोड शो शुरू होने से पहले लंका पर प्रियंका गांधी वहीं से लोगों को सम्बोधित कर सकती हैं। यह भी तैयारी की जा रही है कि रास्ते में अगर पार्टी महासचिव चाहें तो लोगों को  सम्बोधित कर सकती हैं । पूरे रास्ते को कांग्रेस के झंडे से सजाया जाएगा। गुब्बारे लगाए जाएंगे। कांग्रेस कार्यकर्ता टोपी लगाए रहेंगे। कई स्थानों पर स्टैंड बनाया जा रहा है, जहां कार्यकर्ता विशेष तौर पर खड़े रहेंगे। तैयारियों का कामकाज देख रहे प्रचार समिति के संयोजक अनिल श्रीवास्तव अन्नू ने बताया कि अगर प्रशासन ने स्टैंड की अनुमति नहीं दी तो कार्यकर्ताओं के घरों को स्टैंड में बदल दिया जाएगा। 

महिलाओं की भी अच्छी उपस्थिति सुनिश्चित करने के प्रयास किए जा रहे हैं। भारत मां का रूप धरे कई लड़कियां उनका स्वागत करेंगी। कार्यकर्ताओं में टोपी और स्टिकर का वितरण शुरू कर दिया गया है। सेवादल, महिला कांग्रेस, राष्ट्रीय छात्र संगठन, युवक कांग्रेस के अलावा पार्षदों को भी अधिक से अधिक भीड़ जुटाने की जिम्मेदारी दी गई है। विभिन्न सामाजिक संगठनों से भी कांग्रेसजनों ने सम्पर्क साधा है।

प्रियंका के बाद राहुल भी वाराणसी में कर सकते हैं प्रचार
वाराणसी संसदीय क्षेत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव प्रचार में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी उतर  सकते हैं। पन्द्रह मई को पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी के रोड शो के बाद 16 या 17 को राहुल गांधी के आने की संभावना बन रही है। उनकी जनसभा ग्रामीण क्षेत्र में कराने की तैयारी है। रोहनिया विधानसभा क्षेत्र में ऐसे स्थान का चुनाव किया जा रहा है, जहां से सेवापुरी या कैंट विधानसभा क्षेत्र को संदेश दिया जा सके। पार्टी के रणनीतिकारों का मानना है कि शहरी इलाकों में प्रियंका गांधी के रोड शो के बाद ग्रामीण क्षेत्र में राहुल गांधी की जनसभा से लाभ होगा। हालांकि, समय तय नहीं है। स्थानीय पदाधिकारियों से फीडबैक लिया जा रहा है। शीघ्र ही इसकी आधिकारिक घोषणा की जा सकती है। 

Categories: India, Politics

Related Articles