EVM बदलने की रिपोर्टों पर सिसोदिया का बड़ा आरोप, कहा- ‘मोदी के सामने नतमस्तक है चुनाव आयोग और मीडिया’

EVM बदलने की रिपोर्टों पर सिसोदिया का बड़ा आरोप, कहा- ‘मोदी के सामने नतमस्तक है चुनाव आयोग और मीडिया’

उत्तर प्रदेश और बिहार कुछ जिलों में सोमवार शाम से ही इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को लेकर हंगामा मचा रहा। सोमवार रात भर कई जगह विवाद की नौबत आई तो फोर्स तक बुलानी पड़ गई। दरअसल यूपी के चंदौली, मऊ और गाजीपुर जिले के अलावा बिहार के सारण और महाराजगंज में कथित तौर पर ईवीएम बदलने का आरोप लगाते हुए गठबंधन प्रत्‍याशियों की ओर से प्रदर्शन करते हुए खुद के रखवाली की बात पर विवाद बढ़ता चला गया।

इस बीच दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ईवीएम को लेकर सोशल मीडिया पर आ रही कथित रिपोर्टों पर चुनाव आयोग और मीडिया के खिलाफ मंगलवार को बड़ा बयान दिया। सिसोदिया ने ट्विटर पर लिखा, “झांसी, मेरठ, गाजीपुर, चंदौली और सारण हर जगह मतगणना केंद्रों पर मशीनें बदली जा रही हैं लेकिन चुनाव आयोग और तथाकथित मीडिया मोदी के सामने नतमस्तक आंखों पर पट्टी बांधे घुटनों के बल बैठा है। जनता ने मोदी के खिलाफ वोट दिया है उसे मीडिया और चुनाव आयोग मिलकर बदल रहे हैं।”

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, “फगवाड़ा में प्राइवेट कार में ईवीएम पहुंची मतगणना केंद्र… चुनाव के दो दिन बाद चुनाव आयोग और मीडिया आज चुप है। इन मशीनों से मोदी चुनाव जीतेंगे और फिर हर बार की तरह खुद को पत्रकार कहने वाले लोग कहेंगे… हारे हुए लोग इवीएम का बहाना ले रहे हैं।’

एक अन्य ट्वीट में सिसोदिया ने लिखा, “अपने चैनल पर भी ज़रा इस सच को दिखा दीजिए..सिर्फ़ दैनिक भास्कर की वेबसाईट पर सच क्यूँ? सारन, फगवाड़ा, चंदौली, मेरठ, फ़तेहाबाद, सकलडीह, ग़ाज़ीपुर में अपनी पड़ताल का सच भी बता दीजिए.. उम्मीद है 23 से पहले आपकी पड़ताल पूरी हो जाएगी. बॉक्स में महोबा वाली ख़बर का सच भी बता दीजिएगा।”

बता दें कि सोमवार देर रात यूपी के चंदौली, गाजीपुर और मिर्जापुर में रिजर्व ईवीएम को स्ट्रॉन्गरूम में रखने को लेकर विरोध के मामले सामने आए। खासकर मिर्जापुर और गाजीपुर में विपक्ष के नेता ईवीएम छेड़छाड़ का आरोप लगा रहे हैं। इससे जिला प्रशासन को स्थिति संभालने में मुश्किलें आ रही हैं। गाजीपुर के जंगीपुर में बने स्ट्रॉन्ग रूम के बाहर सोमवार की देर शाम गठबंधन प्रत्याशी अफजाल अंसारी ने अपने सैकड़ों समर्थकों संग पहुंचकर धरना दिया।

इस बीच ईवीएम मुद्दे पर झांसी के डिस्ट्रिक्ट इलेक्शन ऑफिसर शिव सहाय अवस्थी ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा कि कुछ पोलिंग पार्टियां देरी से पहुंचीं, लेकिन सभी ईवीएम को सुबह 7 बजे तक स्ट्रांग रूम में रख दिया गया। सीसीटीवी निगरानी के तहत सामान्य पर्यवेक्षकों और उम्मीदवारों की उपस्थिति में स्ट्रॉन्ग रूम को सील कर दिया गया है।

Categories: India

Related Articles