AN-32 हादसा: दुर्घटनास्थल पहुंची वायुसेना की टीम, नहीं मिला 13 लोगों में कोई जिंदा

AN-32 हादसा: दुर्घटनास्थल पहुंची वायुसेना की टीम, नहीं मिला 13 लोगों में कोई जिंदा

भारतीय वायुसेना की टीम गुरुवार सुबह AN-32 विमान (AN 32) के दुर्घटना वाली जगह पर पहुंचीं। टीम को वहां कोई भी जीवित नहीं मिला। इसी वजह से विमान में सवार 13 लोगों के परिवारों को सूचित कर दिया गया है कि कोई जीवित नहीं है।

इस हादसे में जिनकी मौत हुई है, उनके नाम जीएम चार्ल्स, एच विनोद, आर थापा, ए तंवर, एस मोहंती, एमके गर्ग, केके मिश्रा, अनूप कुमार, शेरीन, एसके सिंह, पंकज, पुताली और राजेश कुमार है।

बता दें कि अरुणाचल प्रदेश में मंगलवार को एएन-32 विमान का मलबा मिला था। असम को जोरहाट से उड़ान भरने के कुछ वक्त बाद ही यह विमान गायब हो गया था। इसमें कुल 13 लोग सवार थे। रूसी मूल के एएन-32 विमान का संपर्क असम से जोरहाट से अरुणाचल प्रदेश के मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरने के बाद तीन जून की दोपहर को टूट गया था। 

विमान के हिस्से, जो लापता हुए एएन-32 के माने जा रहे थे, विमान के उड़ान मार्ग से 15-20 किलोमीटर उत्तर में अरुणाचल प्रदेश में मिले थे। तीन जून को लापता हुए इस विमान को तलाशने के अभियान में भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्टर भी शामिल थे।

रूस निर्मित विमान ने अरुणाचल प्रदेश के शि-योमि जिले के मेचुका एडवांस्ड लैंडिंग ग्राउंड के लिए असम के जोरहाट से उड़ान भरी थी। जमीनी नियंत्रण कक्ष के साथ विमान का संपर्क दोपहर एक बजे टूट गया। विमान में चालक दल के आठ सदस्य और पांच यात्री सवार थे। 

Categories: India

Related Articles

Write a Comment

<