बीच सड़क बीजेपी के दो नेताओं में धक्कामुक्की, गाली-गलौच; मंत्री को माला पहनाने पर झगड़े

बीच सड़क बीजेपी के दो नेताओं में धक्कामुक्की, गाली-गलौच; मंत्री को माला पहनाने पर झगड़े

उत्तराखंड में केंद्रीय मंत्री को माला पहनाने का इंतजार कर रहे बीजेपी के दो सीनियर नेता शुक्रवार को लोगों के सामने ही आपस में भिड़ गए। एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, घटना शुक्रवार को ऋषिकेश रोड पर हुई। दोनों नेताओं के बीच गाली-गलौच और धक्कामुक्की तक हुई। द टेलिग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, विधानसभा स्पीकर प्रेम चंद्र अग्रवाल और शुगर इंडस्ट्री डेवलपमेंट बोर्ड के चेयरमैन व दर्जा प्राप्त मंत्री भगत राम कोठारी अपने समर्थकों के साथ सड़क के किनारे इकट्ठा हुए थे। मकसद जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत का अभिवादन करना था। जैसे जैसे मंत्री का इंतजार लंबा होता गया, लोगों की भीड़ बढ़ती गई।

उधर, अग्रवाल और कोठारी के बीच बहस हो गई। रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों ने गालियां दीं और एक दूसरे को देख लेने की धमकी भी दी। दोनों ही नेता फूल-मालाएं लेकर आए थे। दोनों अपने समर्थकों के साथ ऋषिकेश के चंद्रेश नगर इलाके में डटे हुए थे। शेखावत को यहीं से गुजरना था। हालांकि, ऋषिकेश पहुंचने के बाद शेखावत स्वामी चिदानंद सरस्वती से मिलने चले गए। सरस्वती परमार्थ निकेतन आश्रम में रहते हैं। उनसे मुलाकात के बाद शेखावत गंगा का निरीक्षण करने के लिए निकल गए। प्रत्यक्षर्शियों के मुताबिक, अग्रवाल और कोठारी करीब एक घंटे तक शेखावत का इंतजार करते रहे।

नाम न सार्वजनिक किए जाने की शर्त पर एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि दोनों नेता एक दूसरे को धक्का दे रहे थे। इस दौरान, दोनों ने एक दूसरे को भला-बुरा भी कहा। प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, ‘केंद्रीय मंत्री करीब 2:30 बजे पहुंचे और दोनों नेता उनके सामने भी लड़ने लगे। शेखावत करीब दो मिनट तक यह सब देखते रहे।

उधर, अग्रवाल अपनी हिफाजत कर रहे पुलिसवालों की मदद से शेखावत को पहले माला पहनाने में कामयाब हुए।’ स्पीकर होने की वजह से अग्रवाल के पास ज्यादा सुरक्षाकर्मी थे। वहीं, बाद में कोठारी भी मंत्री को माला पहना सके। उधर, जब पत्रकारों ने जब शेखावत से दोनों नेताओं के बीच झगड़े पर टिप्पणी चाही तो वह मुस्कुराकर चले गए। मौके पर मौजूद लोगों ने दोनों नेताओं के बीच हुए झगड़े का वीडियो बना लिया और कुछ ही घंटों में ये वीडियोज सोशल मीडिया पर वायरल हो गए।

घटनाक्रम के बारे में पूछे जाने पर कोठारी ने कहा, ‘स्पीकर ने पूर्व में भी कई मौकों पर मेरा अपमान किया है। उन्होंने कुछ महीने पहले मेरे साथ बदसलूकी की थी, जब मैं अपनी पत्नी के साथ पूजा करने बद्रीनाथ मंदिर गया था। मैं इस तरह की राजनीति से त्रस्त आ चुका हूं। मैं पार्टी के सीनियर नेताओं के पास अग्रवाल की शिकायत करने जा रहा हूं।’ वहीं, अग्रवाल ने कहा कि कोठारी को अनुशासन में रहना चाहिए।

Categories: India
Tags: BJP

Related Articles