छात्रसंघ भंग मामला: प्रियंका गांधी बोलीं- ‘छात्रों की आवाज से डरती क्यों है BJP सरकार, यह तानाशाही नहीं तो क्या है?’

छात्रसंघ भंग मामला: प्रियंका गांधी बोलीं- ‘छात्रों की आवाज से डरती क्यों है BJP सरकार, यह तानाशाही नहीं तो क्या है?’

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ को भंग किए जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार पर तानाशाही का आरोप लगाया है। प्रियंका गांधी वाड्रा ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ को भंग किए जाने का विरोध करने वाले एनएसयूआई के एक नेता के निलंबन को लेकर मंगलवार को भाजपा सरकार पर निशाना साधा।

कांग्रेस नेता ने सवाल किया कि आखिर जनता द्वारा चुनकर आई सरकार छात्रों के चुनाव और उनकी आवाज से डरती क्यों है? प्रियंका ने ट्वीट किया, ‘‘इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्रसंघ को भंग करने के खिलाफ आवाज उठाने पर एनएसयूआई से छात्रसंघ उपाध्यक्ष अखिलेश यादव को प्रशासन ने निलंबित करके ब्लैक लिस्ट कर दिया है।’’

उन्होंने पूछा, ‘‘भाजपा सरकार तो खुद चुनकर आयी है। मगर छात्रों के चुनाव और उनकी आवाज से इतना डरती क्यों है? यह तानाशाही नहीं तो क्या है?’’ दरअसस खबरों के मुताबिक, विश्वविद्यालय प्रशासन ने परिसर में अराजकता फैलाने और अभद्र व्यवहार के आरोप में छात्र नेता अखिलेश यादव को निलंबित किया है, हालांकि एनएसयूआई का दावा है कि छात्र संघ को भंग करने का विरोध करने के कारण यादव को सजा दी गई है।

Categories: Politics

Related Articles