प्रियंका गांधी के धरने का दूसरा दिन, बोलीं- मुझे पीड़ितों से कहीं भी मिलवा दें, बिना मिले कहीं नहीं जाने वाली

प्रियंका गांधी के धरने का दूसरा दिन, बोलीं- मुझे पीड़ितों से कहीं भी मिलवा दें, बिना मिले कहीं नहीं जाने वाली

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की रात चुनार गेस्ट हाउस में गुजरी. हिरासत में लेने को लेकर प्रियंका गांधी ने एबीपी न्यूज़ से कहा है कि मैंने कोई कानून नहीं तोड़ा है. पीड़ित परिवार से मिलना मेरा नैतिक अधिकार है. अगर सरकार पीड़ितों से मिलने के अपराध के लिए मुझे जेल में डालना चाहें तो मैं इसके लिए पूरी तरह से तैयार हूं. वहीं इस मामले में कल राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर सवाल उठाए और कहा कि यूपी में बीजेपी सरकार प्रियंका से डरी हुई है और उन्हें हिरासत में लेना गैरकानूनी है. पल-पल की अपडेट्स के लिए बने रहें.

प्रियंका गांधी ने आज सुबह ट्वविटर पर सोनभद्र पीड़ितों की एक वीडियो शेकर करके लिखा है, ”क्या इन आंसुओं को पोंछना अपराध है?”

प्रिंयका गांधी ने कहा कि क्या बीजेपी का कोई मंत्री, सांसद पीड़ित परिवार के आंसू पोछने वहां गया है? क्या उनकी कोई जिम्मेदारी नहीं है.प्रियंका ने दावा किया है कि अधिकारी मुझे रोकने का आदेश नहीं दिखा रहे हैं.

आज गेस्टहाउस से निकलने के बाद प्रियंका गांधी ने कहा है कि अगर सोनभद्र में धारा 144 लागू है तो मुझे अपनी गाड़ी से ले जाइए नहीं तो पीड़ितों से मुझे कहीं ओर मिलवा दें. प्रशासन जहां कहेगा मैं वहां मिल लूंगी. उन्होंने कहा कि मैं पीड़ितों से मिले बिना नहीं जाउंगी. सरकार को जो करना है वह कर ले.

Categories: Politics

Related Articles