यूपी में आज वकीलों की हड़ताल, साढ़े तीन लाख वकील होंगे शामिल

यूपी में आज वकीलों की हड़ताल, साढ़े तीन लाख वकील होंगे शामिल

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में आज वकीलों की हड़ताल है। बार काउंसिल द्वारा इस हड़ताल का आह्वान किया गया हैं और इसके लिए पूरे राज्य से लगभग साढ़े तीन लाख वकील शामिल हो सकते हैं। इस दौरान पूरी तरह से कार्य का बहिष्कार रहेगा। यानि वकील कलम बंद हड़ताल करेंगे और न्यायिक कार्य नहीं करेंगे। इस हड़ताल के जरिए बीते दिनों हुईं वकीलों की हत्याओं का विरोध किया जाएगा। हालांकि इसके अलावा भी कई मांगें रखी जानी हैं। इसमें वकीलों की सुरक्षा के साथ ही पीड़ित परिजनों को मुआवजे की मांग भी शामिल रहेंगी।

इस बड़ी हड़ताल में तहसील से लोकर हाईकोर्ट तक के वकील हिस्सा लेंगे।
गौरतलब है कि वकील पर्याप्त बजट न मिलने से नाराज चल रहे हैं। बार काउंसिल के अध्यक्ष का कहना कि हर साल कुल 40 करोड़ के बजट का प्रावधान है। गौरतलब है कि लगातार वकीलों की हत्या के मामले सामने आ रहे हैं। जबकि बार काउंसिल की पहली महिला अध्यक्ष दरवेश सिंह की जश्न के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। दरवेश सिंह के परिजनों को मुआवजा और सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई है। उसके बाद से ही वकील सुरक्षा व अन्य मुद्दों को लेकर अपनी मांग कर रहे हैं। मामले को लेकर प्रयागराज में बुधवार को यूपी बार काउंसिल की बैठक के दौरान चेयरमैन हरिशंकर सिंह ने बताया कि वकीलों की लगातार हत्या और वकीलों की समस्या पर यूपी की योगी सरकार गंभीर नजर नहीं आ रही है।

वकीलों ने अधिवक्ता कल्याण निधि न्यासी समिति को बजट ना देने पर भी गहरी नाराजगी जाहिर की है और कहा है कि जब 40 करोड़ के बजट का प्रावधान है, तो सरकार क्यों नहीं दे रही है। फिलहाल सोमवार को यूपी के वकील सरकार को अपनी ताकत का एहसास कराते हुए नजर आएंगे। बार काउंसिल का कहना है कि अगर 29 जुलाई के बाद भी सरकार का रवैया नहीं बदला तो वकील लखनऊ विधानसभा का घेराव करेंगे।

Categories: Regional