उन्नाव रेप केस पर बोलीं प्रियंका गांधी, अब जगी इंसाफ मिलने की उम्मीद

उन्नाव रेप केस पर बोलीं प्रियंका गांधी, अब जगी इंसाफ मिलने की उम्मीद

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा है कि अब उनको उन्नाव रेप पीड़िता के मामले में इंसाफ की उम्मीद नजर आ रही है। पूरा मामला सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में आने और इस पर सुनवाई शुरू होने के बाद शुक्रवार सुबह गांधी ने ट्वीट कर ये बात कही है। उन्नाव रेप पीड़िता के लिए सड़क पर विरोध प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं की फोटो ट्विटर पर शेयर करते हुए प्रियंका ने लिखा, ‘बेपनाह मुसीबतें झेल रही और दर्द से लड़ रही उन्नाव की बेटी को अब इंसाफ मिलने की उम्मीद जगी है। उन्नाव की बेटी को न्याय दिलाने के लिए लड़ाई लड़ रहे तमाम कांग्रेस कार्यकर्ताओं और नागरिकजनों का धन्यवाद।’

गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के उन्नाव रेप के सभी मामले उत्तर प्रदेश से दिल्ली ट्रांसफर करने के फैसले के बाद भी प्रियंका ने ट्वीट कर योगी सरकार को निशाने पर लिया था। प्रियंका ने गुरुवार को कहा था कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला यूपी में फैले जंगलराज और सरकार की नाकामी पर एक मुहर है। अब जाकर भाजपा ने माना कि उन्होंने एक अपराधी को संरक्षण दे रखा था और उसे पार्टी से निष्कासित कर अपनी गलती को सुधारने के लिए कम से कम एक कदम उठाया।

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार से उन्नाव रेप केस पर सुनवाई शुरू की है। सुप्रीम कोर्ट ने पीड़िता की चिट्ठी पर सुनवाई करते हुए गुरुवार को कहा कि मामले की सुनवाई रोजाना होगी और इसे 45 दिनों में पूरा किया जाएगा। अभियुक्त विधायक कुलदीप सेंगर पर पांच मामले चल रहे हैं, जिनमें से बलात्कार वाले मामले की रोज सुनवाई होगी। साथ ही इससे जुड़े सभी मामलों की सुनवाई उत्तर प्रदेश से दिल्ली शिफ्ट किए जाने के आदेश दिए हैं।

अदालत ने सीबीआई से सात दिन के भीतर ट्रक हादसे की जांच पूरी करने को कहा है। सीबीआई जरूरत पड़ने पर एक और हफ़्ता ले सकती है। अदालत ने उत्तर प्रदेश सरकार को आदेश दिया कि पीड़िता को 25 लाख रुपये का अंतरिम मुआवजा दे।

शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने उन्नाव रेप पीड़िता के कार एक्सिडेंट के बाद कई अहम फैसले दिए हैं। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने उन्नाव रेप पीड़िता के चाचा को रायबरेली जेल से तत्काल दिल्ली के तिहाड़ जेल शिफ्ट करने का आदेश दिया है।

बता दें कि उन्नाव की लड़की ने 2017 में बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाया था। लड़की के सीएम योगी आदित्यनाथ के आवास के बाहर आत्मदाह की कोशिश किए जाने के बाद यह मामला प्रकाश में आया था। जिसके बाद सेंगर को गिरफ्तार किया गया था। तब से सेंगर जेल में है। इस मामले में नया मोड़ इस रविवार को आया जब पीड़िता अपने वकील और परिवार के लोगों के साथ रायबरेली जा रही थी। इसी दौरान उसकी कार को ट्रक ने टक्कर मार दी। जिसमें पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई, वहीं पीड़िता और वकील का गंभीर हालत में लखनऊ में इलाज हो रहा है। पीड़िता के परिवार ने सेंगर पर ये हमला करवाने का आरोप लगाया है। सेंगर और दस अन्य के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया गया है।

Categories: Politics