शर्मनाक! मोदी, शाह और योगी के साथ छपी उन्नाव रेप आरोपी कुलदीप सेंगर की फोटो, स्वतंत्रता दिवस पर दी शुभकामनाएं

शर्मनाक! मोदी, शाह और योगी के साथ छपी उन्नाव रेप आरोपी कुलदीप सेंगर की फोटो, स्वतंत्रता दिवस पर दी शुभकामनाएं

उन्नाव रेप कांड में आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर भले ही बीजेपी से निष्कासित हो गए हो लेकिन आज भी बीजेपी नेताओ के रोल मॉडल है। एक ओर दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर पीड़िता के साथ रेप और उसके पिता की पुलिस कस्टडी में मौत के प्रकरण में आरोप तय कर दिए हैं, दूसरी ओर बीजेपी नेताओं का प्रेम उनके प्रति कम होता नहीं दिखाई दे रहा है। ताजा मामला स्वतंत्रता दिवस का है। जहां 73वें स्वतंत्रता दिवस पर उन्नाव रेप कांड के मुख्य आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर की फोटो को पीएम मोदी और अमित शाह के साथ एक अखबार को दिए गए विज्ञापन में दिखाया गया है।

दरअसल, उन्नाव नगर पंचायत के अध्यक्ष अनुज कुमार दीक्षित द्वारा एक अखबार में स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी गई थी, उसमें उन्नाव रेप के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की तस्वीर छपी है। यह तस्वीर 15 अगस्त 2019 की उन्नाव एडिशन के फर्स्ट पेज की तस्वीर शेयर की है। जिसमें स्वतंत्रता दिवस, रक्षाबंधन और जन्माष्टमी की बधाई देते हुये पीएम नरेन्द्र मोदी, आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की तस्वीरें लगी हैं। इसके अलावा विज्ञापन पर गृह मंत्री अमित शाह और योगी की भी तस्वीरें हैं।

इस विज्ञापन पर मचे बवाल को लेकर नगर पंचायत के अध्यक्ष ने सफाई देते हुए कहा कि वह हमारे क्षेत्र के विधायक हैं, इसीलिए विज्ञापन में उनकी फोटो है। जब तक वह हमारे विधायक हैं, उनकी फोटो हम लगा सकते हैं।

बता दें कि उन्नाव रेप पीड़िता के पिता की पुलिस हिरासत में कथित हत्या मामले में दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने बीते मंगलवार को विधायक कुलदीप सिंह सेंगर, उनके भाई अतुल सेंगर, उत्तर प्रदेश पुलिस के तीन कर्मियों और पांच अन्य लोगों पर आरोप तय किए। इसके अलावा पीड़िता से रेप करने का भी आरोप तय हो चुके हैं। इससे पहले हुई सुनवाई में सीबीआई ने जज से कहा था कि जांच में साफ हो गया था कि सेंगर पर 4 जून 2017 को पीड़िता के साथ बलात्कार करने और शशि सिंह(दूसरा आरोपी) के साजिश में शामिल होने के आरोप सही हैं।

बता दें उन्नाव रेपकांड मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को सौंप दी थी। पीड़िता के ऐक्सिडेंट के बाद देशभर में आरोपी कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुए जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने मामले का संज्ञान लेते हुए सुनवाई की थी।

Categories: Politics

Related Articles