यूपीः मिड डे मील में नमक-रोटी, बच्चों का पोषण चट कर रहे अधिकारी

यूपीः मिड डे मील में नमक-रोटी, बच्चों का पोषण चट कर रहे अधिकारी

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर से सरकारी स्कूलों में बच्चों को दी जाने वाली मिड डे मील योजना की पोल खोलती तस्वीर सामने आई है। यहां बच्चों को नमक-रोटी परोसा गया है। यह तस्वीर गुरुवार को प्रकाश में आई और देखते ही देखते सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गई। सरकारी प्राथमिक स्कूल का ड्रेस पहने बच्चों की ली गई तस्वीर में सभी बच्चों के सामने थाली है और हाथों में रोटी। रोटी खाने के लिए थाली में नमक रखा हुआ है। इससे पहले पश्चिम बंगाल के एक सरकारी स्कूल की तस्वीर वायरल हुई थी जिसमें बच्चों को नमक और चावल खाते दिखाया गया था।

पूरे देश में केंद्र सरकार की ओर से चलाई जा रही मिड डे मील योजना बच्चों को पोषण देने के लिए है। इस योजना पर सरकार सालाना 12,000 करोड़ रुपये खर्च करती है। लेकिन हकीकत में बच्चे का हक मारकर भ्रष्ट इंतजामिया खुद की जेब भरने में लगा है।

यह मामला तब सामने आया जब बच्चों को केवल रोटी परोसते हुए एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ और किसी ने इस वीडियो को जिलाधिकारी को भेज दिया।

यह शर्मनाक दृश्य मिर्जापुर के शिउर सरकारी प्राथमिक विद्यालय का है। वीडियो और तस्वीर को देखते ही जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने फौरन मामले की जांच का आदेश दिया है। जांच की जिम्मेदारी बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रवीण कुमार तिवारी को सौंपी गई है।

तिवारी ने कार्रवाई करते हुए उक्त स्कूल के प्रधानाध्यापक को निलंबित कर दिया। उन्होंने जमालपुर ब्लॉक के खंड शिक्षा अधिकारी और न्याय पंचायत संसाधन केंद्र के प्रभारी से भी स्पष्टीकरण मांगा है।

जिलाधिकारी ने कहा, “बेसिक शिक्षा अधिकारी (बीएसए) को निर्देश दिया गया है कि वे इस मामले की जांच करें और इसके लिए जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित करें। इसमें कोई ढिलाई नहीं होनी चाहिए।” उन्होंने कहा कि मामले में बेसिक शिक्षा अधिकारी से भी स्पष्टीकरण मांगा गया है।

बंगाल में कुछ दिनों पहले एक ऐसी ही घटना सामने आई थी, जब लड़कियों के स्कूल में बच्चों को मिड डे मील में केवल चावल और नमक परोसा गया था। घटना के तूल पकड़ने पर चिनसुराह के बानी मंदिर स्कूल के दो शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया था।

Categories: Regional

Related Articles