लड़कियों ने रचा इतिहास,देश में पहली बार मिलिट्री पुलिस में हुई लड़कियों की भर्ती

लड़कियों ने रचा इतिहास,देश में पहली बार मिलिट्री पुलिस में हुई लड़कियों की भर्ती

लखनऊ. लखनऊ कैंट की सडक़ों ने आज इस बात को झुठला दिया कि लड़कियां लडक़ों से कमजोर होती हैं। यहां के एएमसी स्टेडियम में सुबह 6 बजे से ही महिलाओं का हुजूम उमड़ पड़ा। जैसे ही इशारा हुआ सब के सब ने फर्राटा भरा। दौड़-कूद, पुशअप और न जाने क्या-क्या। सभी विधाओं में लड़कियों ने अपना दम-खम दिखाया। यह सब यूपी के विभिन्न शहरों से आयी हुई हैं। जोश और जज्बे से भरपूर लड़कियों की यह भीड़ जुटी है सेना में भर्ती होने के लिए। यूं तो लड़कियां पहले से ही सेना में भर्ती होती रही हैं लेकिन देश में यह पहली बार है जब सेना में सिपाही पद के लिए लड़कियों की भर्ती हो रही है।

1.6 किमी लंबा ट्रैक

देश की रक्षा करने का जज्बा लेकर बेटियों ने 1.6 किलोमीटर लंबे ट्रैक को चंद मिनट में पार कर लिया। जब वे दौड़ लगा रही थी तब एक पल तो ऐसे लगा मानो सब की सब हवा से बातें कर रही हों। दौड़ और फिर लांग जंप में बेटियों ने सफलता के झंडे फहरा दिए। सेना के अफसरों का कहना है लड़कियों ने सभी प्रतियोगिताओं में ऐसा प्रदर्शन किया जिसे लडक़े भी नहीं कर पाते।

सैनिक जीडी के लिए महिलाओं की पहली भर्ती

एएमसी स्टेडियम में मिलिट्री पुलिस में सैनिक जीडी के पदों की भर्ती पहली बार शुरू हुई। पहले दिन सेना ने 41 जिलों की 1884 बालिकाओं को ऑनलाइन प्रवेश पत्र जारी किया था। इसमें से करीब 600 बालिकाएं भर्ती रैली में आई। सुबह चार बजे से उनके दस्तावेजों और प्रवेश पत्र की जांच के बाद टोकन नंबर जारी किए गए। फिर दौड़ शुरू हुई। ऊंचाई की माप में सफल बालिकाओं को 100-100 के समूहों में दौड़ाया गया। चार सौ मीटर का एक राउंड बनाया गया। चार राउंड को 7.30 मिनट में पूरा करने पर ग्रुप एक और 7.30 से आठ मिनट में राउंड सफलता से पूरा करने पर ग्रुप दो में रखा गया।

दौड़ में इससे ज्यादा समय लेने वाली बालिकाओं को असफल घोषित कर दिया गया। इसके बाद सफल अभ्यर्थियों के हाथ पर मुहर लगाने के बाद उनका बायोमीट्रिक पंजीकरण किया गया। इसके बाद 10 फिट की लांग जंप की गई। इसमें सफल होने वाली बालिकाओं को तीन फिट ऊंचाई की जंप करायी गई। इस जंप में हर प्रतिभागी को अधिकतम तीन मौके दिए गए। सफल बालिकाओं का 15 सितंबर से मेडिकल होगा। फिर लिखित परीक्षा अक्टूबर में होगी। डिफेंस के पीआरओ के मुताबिक 25 अप्रेल से 30 जून तक कुल पंजीकृत महिला अभ्यर्थियों में से 4458 को बुलाया गया था। महिला सैन्य पुलिस की भर्ती पहली बार की जा रही हैं। इसमें महिलाओं का जोश देखने लायक है।

कब किसकी भर्ती

12 सितंबर-अमेठी, अंबेडकर नगर, प्रयागराज, बस्ती, फैजाबाद, कुशीनगर, कौशांबी, महाराजगंज, प्रतापगढ़, रायबरेली, सुलतानपुर, संतकबीर नगर, सिद्धार्थनगर, अयोध्या, बरेली, बदायूं, सम्भल, पीलीभीत, शाहजहांपुर, लखीमपुर-खीरी, फर्रूखाबाद, बलरामपुर, हरदोई, सीतापुर, बहराइच, श्रावस्ती, ओरैया, बाराबंकी, कन्नौज, गोंडा, बांदा, हमीरपुर, फतेहपुर, कानपुर नगर, कानपुर देहात, लखनऊ, उन्नाव, महोबा और चित्रकूट ।
13 सितंबर-बागपत, बिजनौर, मेरठ, मुरादाबाद, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, शामली, अमरोहा, बुलंदशहर, गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, रामपुर, हापुड़, मैनपुरी, एटा, इटावा, झांसी, जालौन, ललितपुर, आगरा, अलीगढ़, फिरोजाबाद, हाथरस, कासगंज और मथुरा
14 सितंबर-जौनपुर, सोनभद्र, वाराणसी, गाजीपुर, संतरविदास नगर, मिर्जापुर, चंदौली, आजमगढ़, गोरखपुर, मऊ, देवरिया, बलिया व उत्तराखंड के अल्मोड़ा, बागेश्वर, नैनीताल, उधमसिंह नगर, चंपावत, पिथौरागढ़, चमोली, देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी-गढ़वाल, रुद्रप्रयाग, टिहरी-गढ़वाल व उत्तरकाशी।

Categories: Regional