यूपी के बाद अब हरियाणा में सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर करने पर पत्रकार के खिलाफ केस दर्ज, रिपोर्टर ने JKR से बताई पूरी कहानी

यूपी के बाद अब हरियाणा में सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर करने पर पत्रकार के खिलाफ केस दर्ज, रिपोर्टर ने JKR से बताई पूरी कहानी

उत्तर प्रदेश के बाद हरियाणा में कथित तौर पर सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर करने पर एक पत्रकार के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। हिसार जिले में एक टीवी चैनल के लिए काम करने वाले एक पत्रकार के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। पत्रकार पर मानहानि और अवैध घुसपैठ का मामला दर्ज किया गया है।

दरअसल, ‘STV हरियाणा न्यूज़’ के लिए काम करने वाले पत्रकार अनूप कुंडू ने उकलाना में खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के गोदाम में सड़ रहे गेहूं की ख़बर को कवर किया था। पत्रकार ने आरोप लगाया है कि पुलिस ने उनकी रिपोर्टिंग के माध्यम से सरकारी भंडारण सुविधा में अनाज की हेराफेरी का खुलासा करने के बाद उन पर मुकदमा दर्ज किया है। पत्रकार के खिलाफ मुकदमा दर्ज किए जाने पर जिले के पत्रकारों ने नाराजगी जताई है।

अनूप कुंडू के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने वाले सहायक खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी संदीप चहल ने आरोप लगाया कि पत्रकार ने खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को बदनाम करने के उद्देश्य से अपने चैनल पर फर्जी वीडियो चलाया। 17 जुलाई को उकलाना के डीएफएससी गोदाम में पानी की वजह से गेहूं खराब होने का मामला सामने आया था। पत्रकार ने मौके पर मौजूद सिक्योरिटी गार्ड से बात की और इस घटना का वीडियो बनाया था।

जनता का रिपोर्टर से बात करते हुए अनूप कुंडू ने कहा, 18 जुलाई को इस बारे में चैनल पर 21 से 22 मिनट की स्टोरी चलाई गई थी। इस दौरान मंत्री करन देव कंबोज ने चैनल से बात की और दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का वादा किया। इसी दिन मंत्री ने डीएफएससी सुभाष को जांच का सुझाव दिया जिसके बाद पत्रकार समेत कुछ बीजेपी नेता और जिला फूड सप्लाई कंट्रोलर ने गोदाम का निरीक्षण किया। इस दौरान कुछ अधिकारियों को खराब अनाज मिला। अधिकारियों ने गलती को स्वीकार किया और साउंडबाइट दिया।

लेकिन 19 जुलाई को जब करनाल में मंत्री से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पत्रकार ने गलत खबर दी है। 25 जुलाई को उन्होंने डीसी हिसार के पास शिकायत दर्ज कराई और इस शिकायत को डीएफएससी हिसार के पास भी भेजा लेकिन यह अभी तक पेंडिंग है। इसके बाद 8 सितंबर को अनूप कुंडू के खिलाफ धारा 451, 465 और 500 के तहत मामला दर्ज किया गया।

अनूप कुंडू ने आगे बताया कि, गुरुवार (12 सितंबर) को पत्रकारों के एक समूह ने मेरे खिलाफ दर्ज मामले को खारिज कराने के लिए जिला प्रशासन के विभिन्न अधिकारियों से मुलाकात की। लेकिन जिला प्रशासन ने कहा कि हम इस पूरे मामले की जांच कर रहें है। अनूप कुंडू ने कहा कि, वह जिला प्रशासन के बयान से खुश नहीं है। पत्रकारों का कहना है कि इस संबंध में उस अधिकारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज होनी चाहिए जिसने फर्जी जांच रिपोर्ट तैयार की है।

हरियाणा रोडवेज यूनियन के प्रधान दलबीर किरमारा ने कहां कि एक तरफ सरकार दावा करती है कि उनकी सरकार और अधिकारी पूरी ईमानदारी से काम करते हैं। वहीं दूसरी तरफ उकलाना के खाद्य एवं आपूर्ति विभाग में गेहूं बारिश के कारण खराब होने की खबर चलाए जाने को लेकर फर्जी जांच कर मुकदमा दर्ज किया गया है। उसे तुरंत प्रभाव से खारिज करते हुए दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जानी चाहिए। दलबीर किरमारा ने कहा कि अगर पत्रकारों पर भी इस तरह का दबाव बनाया जाता है तो यह स्पष्ट तौर पर लोकतंत्र की हत्या है।

उन्होंने यह भी कहा कि यदि इसी प्रकार से शिकायतकर्ता पर मुकदमे होते रहे तो कोई भी शिकायत नहीं करेगा और ताकतवर लोग मनमानी करते रहेंगे। दलवीर ने कहा कि अनूप कुंडू ने पहले भी हरियाणा रोडवेज में टायर ना होने के कारण बसें न चलने और छात्राओं को आ रही दिक्कतों को लेकर खबर चलाई, जिसके तुरंत बाद लगभग 80 टायर आ गए और बसें अपने निर्धारित रूटों पर चली और छात्र-छात्राओं को आ रही समस्याएं दूर हुई। दलवीर ने कहा की पत्रकार पर दर्ज हुई FIR की वह कड़े शब्दों में आलोचना और निंदा करते हैं।

इस मामले में कोई अन्याय नहीं किया जाएगा

हिसार के डीएसपी (मुख्यालय) अशोक कुमार ने कहा कि पत्रकारों ने अपने साथी पत्रकार अनूप कुंडू के खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने के खिलाफ चिंता व्यक्त की है। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘मैंने पत्रकारों को आश्वसान दिया है कि इस मामले में कोई अन्याय नहीं किया जाएगा। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि इस मामले की पूरी तरह से जांच हो।’

बता दें कि, इससे पहले उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में भी एक पत्रकार के खिलाफ मिड-डे मील की खबर दिखाए जाने पर मामला दर्ज किया गया था। उसने मिड-डे मील में बच्चों को रोटी और नमक खिलाने की खबर प्रसारित की थी।

Categories: India

Related Articles