चिन्मयानंद मामले में बड़ा खुलासा: भाजपा नेता व जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन ने भी मांगी थी रंगदारी

चिन्मयानंद मामले में बड़ा खुलासा: भाजपा नेता व जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन ने भी मांगी थी रंगदारी

स्वामी चिन्मयानंद यौन उत्पीड़न मामले में मंगलवार को एसआईटी ने सबसे बड़ा खुलासा किया है। स्वामी चिन्मयानंद से रंगदारी मांगने के मामले में बीजेपी के नेता और जिला सहकारी बैंक के चेयरमैन डीपीएस राठौर का नाम भी एसआईटी ने चार्जशीट में शामिल किया है। एसआईटी बुधवार को चार्जशीट कोर्ट में पेश करेगी।

एसआईटी की माने तो बीजेपी नेता डीपीएस राठौर के पास भी पेन ड्राइव में अश्लील वीडियो उन्हें दिए गए थे। उन्हीं अश्लील वीडियो के आधार पर बीजेपी नेता डीपीएस राठौर ने चिन्मयानंद से सवा करोड़ रुपये मांगे थे। इसके अलावा डीपीएस राठौर के एक और साथ ही अजीत सिंह का नाम भी चार्जशीट में शामिल किया गया है।

एसआईटी का कहना है कि दो महीने में चार्जशीट पूरी की गई है। जिसमें 55 अभिलेख संकलित किए गए हैं। चार्जशीट 47 सौ पन्नों की तैयार की गई है। एसआईटी चीफ नवीन अरोड़ा का कहना है कि पूरी विवेचना में सारे वीडियो और ऑडियो की एफएसएल से जांच कराई गई थी जो सही पाए गए हैं और धारा 67 ए भी सही पाई गई।

पूरी सीडीआर में रंगदारी मांगने के आरोप भी सही पाए गए हैं। एसआईटी का यह भी कहना है कि चिन्मयानंद यौन उत्पीड़न के आरोप के मामले और आरोप लगाने वाली छात्रा द्वारा 5 करोड़ की रंगदारी मांगने के मामले में स्थानीय पुलिस और कॉलेज की स्टाफ की भूमिका भी संदिग्ध पाई गई है जिसकी रिपोर्ट शासन को सौंपी जा रही है।

आपको बता दें कि लॉ कॉलेज की छात्रा ने चिन्मयानंद पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। लॉ कॉलेज की छात्रा ने यौन उत्पीड़न का आरोप पांच करोड़ की रंगदारी ना मिलने के बाद लगाया था। जिसमें उसके तीन दोस्त भी शामिल थे। लेकिन इस पूरे मामले में बीजेपी नेता का सवा करोड़ मांगने के मामले में यहां राजनीति में हलचल पैदा हो गई है। फिलहाल एसआईटी बुधवार को कोर्ट में दोनों ही मामलों में चार्जशीट पेश करेगी।

Categories: Crime, Uncategorized

Related Articles

Write a Comment

<