Opinion

Back to homepage
Opinion Politics

जयंत कुमार: बिहार के एक लड़के ने सबको हैरान कर दिया, वामपंथ के गढ़ JNU को ‘लालू’मय कर दिया

जयंत कुमार: बिहार के एक लड़के ने सबको हैरान कर दिया, वामपंथ के गढ़ JNU को ‘लालू’मय कर दिया   JNU की छात्र राजनीति पर हमेशा से देशभर के लोगों

Opinion Politics

सुमित्रा महाजन क्यों भूल जाती हैं कि वे लोकसभा अध्यक्ष भी हैं?

सुमित्रा महाजन क्यों भूल जाती हैं कि वे लोकसभा अध्यक्ष भी हैं? अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निरोधक अधिनियम को लेकर सुमित्रा महाजन निजी तौर पर कोई भी राय रखें, लेकिन लोकसभा

India International Opinion Politics

सरकार ने पिछले चार साल में तेल के ज़रिये आपका ‘तेल’ निकाल दिया है…

सरकार ने पिछले चार साल में तेल के ज़रिये आपका ‘तेल’ निकाल दिया है…   यूपीए ने 2005-06 से 2013-14 के बीच जितना पेट्रोल-डीज़ल की एक्साइज़ ड्यूटी से नहीं वसूला

Finance Opinion

कीमतों में वृद्धि और आम आदमी की परेशानी…

कीमतों में वृद्धि और आम आदमी की परेशानी… – आमना मिर्जा वक्त अब निकल रहा है और फिर भी ‘अच्छे दिन’ के अधिकांश वादे अभी तक पूरा नहीं हुए हैं।

Opinion Politics

CIA व MOSSAD ने बनाया प्रशांत किशोर को राजनीति का चाणक्य…

सीआईए व मोसाद ने बनाया प्रशांत किशोर को राजनीति का चाणक्य…   हम सब देश के काफी नामचीन पॉलिटिकल स्ट्रैटेजिस्ट प्रशांत किशोर को जानते ही है ,बहुत कुछ सुना है

Opinion

नज़रियाः चार साल से मोदी विदेश जाकर रंगबिरंगे कपड़े पहनकर नगाड़ा और बांसुरी बजा रहे हैं, लेकिन विदेशी निवेश कितना लाए?

विदेशों में मोदी जी का डंका बजता है। इसे साबित करने के लिए उन्होंने कई देशों में बांसुरी और नगाड़े बजाए। विदेश में रह रहे भारतीयों से नारे लगवाए। बराक

Opinion

विवेकानंद : जाति-पुरोहितवाद से लड़ने वाले क्रांतिकारी जिन्हें भगवा हिंदूवादी बना दिया गया

हर दौर में दुनिया में ऐसी कई ऐतिहासिक शख़्सियतें हुई हैं, जिन्होंने अपेक्षाकृत कम उम्र में ही समाज में हलचलें पैदा कर दीं. सुदूर अतीत में ईसा मसीह और शंकराचार्य

Opinion

भाजपा और उसकी केंद्र सरकार के वे तीन हालिया राजनीतिक फैसले जिनमें सियासी सूझबूझ कम दिखती है

भारतीय जनता पार्टी के नेता अक्सर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर यह कहकर निशाना साधते हैं कि वे मौसमी नेता हैं और अक्सर चुनावों के आसपास ही सक्रिय दिखते हैं.

Opinion

अविश्वास प्रस्ताव पर सदन में मोदी सरकार ने जो ड्रामा रचा वो लोकतंत्र के लिए घातक है

बीते संसद सत्र के दौरान सत्तापक्ष की चाणक्य नीति ने कैसे विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव की हवा निकाली, इससे बहुमत व अल्पमत पर टिके देश के संसदीय लोकतंत्र के लिए

Opinion

महात्मा गांधी का राम राज्य बनाम आरएसएस का राम राज्य

आजादी के बाद पहली बार गांधी ने एक आदर्श राष्ट्र के तौर पर राम राज्य की बात की। राम राज्य से उनका आशय एक ऐसे दैवीय राज की स्थापना करना